नई दिल्ली. यूपीए-2 सरकार की अगुवाई कर रहे प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की कैबिनेट में फेरबदल का ऐलान कर दिया गया है। यह देश के संसदीय इतिहास में पहला मौका है जब शपथ ग्रहण से कई घंटे पहले कैबिनेट में बदलाव की सूची सार्वजनिक कर दी गई है। यह सूची प्रधानमंत्री की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी गई है। लेकिन इसे लेकर असंतोष भी उभरने लगा है।

सूची के मुताबिक, तृणमूल कांग्रेस के नेता दिनेश त्रिवेदी नए रेल मंत्री होंगे। बेनी प्रसाद वर्मा को तरक्की देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। वे स्टील मंत्रालय का कामकाज देखेंगे। राजीव शुक्ला, जयंती नटराजन, किशोर चंद्र देव, मिलिंद देवड़ा कैबिनेट में नए चेहरे होंगे। वहीं, मुरली देवड़ा, एमएस गिल, कांतिलाल भूरिया, अरुण यादव, ए साई प्रताप की कैबिनेट से छुट्टी हो गई है। शपथ ग्रहण शाम पांच बजे होगा।

सांख्यिकीय व कार्यक्रम क्रियान्‍वयन मंत्री बनाए जा रहे श्रीकांत जेना असंतुष्‍ट लग रहे हैं। उन्‍होंने मंत्रिमंडल विस्‍तार पर कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार किया और कहा कि वह अपने विभाग को लेकर नेताओं से मिलेंगे।

सरकार की एक सहयोगी डीएमके के प्रमुख एम करुणानिधि ने कहा है कि कैबिनेट में फेरबदल अभी पूरी तरह नहीं हुआ है। उन्‍होंने एक इंटरव्‍यू में कहा कि केंद्र सरकार में शामिल होने के बारे में फैसला डीएमके की बैठक में लिया जाएगा। उनकी पार्टी के दो मंत्रियों को 2जी घोटाले में फंसने के कारण कैबिनेट छोड़ना पड़ा है।

मनमोहन की नई कैबिनेट में वीरप्पा मोइली कंपनी मामलों के मंत्री बनाए गए हैं। उन्हें कानून मंत्रालय से हटाया गया। सलमान खुर्शीद नए कानून मंत्री होंगे। उनके पास अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का कामकाज बरकरार रहेगा। वहीं, कपिल सिब्बल का रुतबा बरकरार है। वे केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के साथ-साथ दूरसंचार मंत्रालय का कामकाज देखते रहेंगे। कैबिनेट मंत्री बने जयराम रमेश ग्रामीण विकास मंत्रालय का कामकाज देखेंगे। रमेश की जगह अब कांग्रेस की प्रवक्ता जयंती नटराजन राज्य मंत्री, स्वतंत्र प्रभार के तौर पर पर्यावरण एवं वन मंत्रालय का कामकाज देखेंगी। किशोर चंद्र देव कैबिनेट मंत्री के तौर पर पंचायती राज एवं जनजातीय मंत्रालय देखेंगे। दयानिधि मारन के हटने के बाद खाली पड़े कपड़ा मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार केंद्रीय वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा को सौंपा गया है।

मिलिंद देवड़ा संचार एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाए गए हैं।  श्रीकांत जेना सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय में राज्य मंत्री होंगे। पवन सिंह घाटोवार बीएस हांडिक की जगह पूर्वोत्तर से जुड़े मंत्रालय का कामकाज देखेंगे। राहुल गांधी के बेहद करीबी भंवर जितेंद्र सिंह नए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री होंगे। राजीव शुक्ला संसदीय मामलों के राज्य मंत्री बनाए गए। विलास राव देशमुख नए केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री होंगे। रविवार को हुए रेल हादसों को लेकर आलोचना झेल रहे मुकुल रॉय की रेल मंत्रालय से छुट्टी कर दी गई है। मुकुल रॉय जहाजरानी मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाए गए हैं। गुरुदास कामत को पेयजल एवं स्‍वच्‍छता मंत्रालय में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया है। शपथ ग्रहण समारोह आज शाम को आयोजित किया जाएग। छत्तीसगढ़ से कांग्रेस के एकमात्र सांसद डॉ. चरणदास महंत कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय का काम राज्य मंत्री के रूप में देखेंगे।

फेरबदल के बाद नई कैबिनेट में चार नए मंत्री, इतने ही नए राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और पांच नए राज्य मंत्रियों को नई कैबिनेट में जगह दी गई है। इस कैबिनेट में आठ नए नेताओं को शामिल किया गया है। वहीं, पिछली कैबिनेट में शामिल रहे सात मंत्रियों को नई कैबिनेट में जगह नहीं मिल पाई है। अपने राजनीतिक जीवन में पहली बार केंद्रीय मंत्रिमंडल का हिस्सा बनने वालों में राजीव शुक्ला, चरणदास मंहत, मिलिंद देवड़ा, सुदीप बंदोपाध्याय, जीतेंद्र सिंह शामिल हैं।

Related Posts: