जैन ने अधिकारियों के साथ की समीक्षा

भोपाल,22 मई,खाद्य, नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री पारस जैन ने आज मंत्रालय में एक बैठक में किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जन एवं बारदानों की उपलब्धता की समीक्षा की. बैठक में अपर मुख्य सचिव खाद्य एंटोनी डीसा, प्रबंध संचालक राज्य सहकारी विपणन संघ अजय तिर्की और नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध संचालक चंद्रहास दुबे उपस्थित थे.

पारस जैन ने बताया कि गत 14 मार्च को भोपाल में समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जन के संबंध में हुई विशेष बैठक में केन्द्र सरकार की ओर से भारतीय खाद्य निगम के अध्यक्ष-सह-प्रबंध संचालक सिराज हसन भी मौजूद थे. बैठक में मध्यप्रदेश सरकार की ओर से केन्द्र से दस लाख मीट्रिक टन गेहूँ का उठाव सीधे जिला उपार्जन केन्द्रों से करने का अनुरोध किया गया था. गेहूँ उपार्जन की अब तक सम्पन्न प्रक्रिया के बावजूद भारतीय खाद्य निगम ने मात्र 2 लाख 65 हजार मीट्रिक टन गेहूँ का ही उठाव किया. इसमें से भी मात्र 71 हजार 400 मीट्रिक टन गेहूँ रेल्वे रेक के माध्यम से भेजा गया है. शेष एक लाख 94 हजार मीट्रिक टन गेहूँ निगम के मध्यप्रदेश स्थित गोदामों में संग्रहीत किया गया है.

जैन ने किसानों के साथ अनियमितताएँ करने वाली सहकारी संस्थाओं के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिये. उन्होंने विभिन्न राज्यों के निकटवर्ती जिलों और उनके समीपस्थ स्थित उपार्जन केन्द्रों पर विशेष निगरानी रखने तथा मंडी द्वारा चैक-पोस्ट स्थापित करवाने के निर्देश भी दिये. श्री जैन ने उज्जैन संभाग में बारदानों की कमी की जानकारी मिलने पर तत्काल वहाँ प्लॉस्टिक के बारदानों की व्यवस्था करने को कहा. पारस जैन ने खुले में पड़े गेहूँ को तत्काल बारदानों में भरवाने को कहा. उन्होंने बताया कि प्लॉस्टिक के बारदानों के प्रदाय से अब बारदानों की कोई कमी नहीं है. प्लॉस्टिक के बारदानों की 2-3 रेल्वे रेक अभी और आ रही हैं. जैन के अनुसार सरकार के बेहतर इंतजाम के फलस्वरूप इस साल गेहूँ की रिकार्ड खरीदी हो रही है. खरीदी के साथ ही गेहूँ के भण्डारण की गति भी तेज की जा रही है. जिलों से प्राप्त शिकायतों का तत्काल मौके पर ही निराकरण किया जा रहा है.

Related Posts: