सीधी 30 अक्टूबर. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेमरिया अंतर्गत चौफाल गांव में मलेरिया का कहर बरपने से 17 लोगों की मौत हो चुकी है. मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल हैं.

मलेरिया से लगातार हो रही मौतों की खबर जिला प्रशासन को लगने पर तहसीलदार गोपद बनास के.के.पाण्डेय द्वारा मौके पर पहुंचकर जानकारी ली गयी. गंभीर रूप से पीडि़त चार मरीजों को तहसीलदार द्वारा जिला अस्पताल भेजने की व्यवस्था की गयी. गांव में मलेरिया से पीडि़त करीब एक सैकड़ा मरीजों का घर में ही जिला मुख्यालय से पहुंची डॉक्टरों की टीम द्वारा कैम्प करके ईलाज शुरू किया गया है. डॉक्टरों की टीम द्वारा मौके पर पहुंचने के बाद सर्वप्रथम बुखार से पीडि़त ग्रामीणों का ब्लड टेस्ट किया गया. सभी रिपोर्ट पाजीटिव मिलने पर मरीजों को आवश्यक दवाईयां वितरित की गयी. डॉक्टरों की टीम द्वारा कई दिनों से बुखार से पीडि़त मरीजों को इंजेक्शन एवं बाटल भी चढ़ाये जा रहे हैं. आदिवासी बाहुल्य चौफाल गांव में करीब 12 दिनों से मलेरिया का प्रकोप गंभीर रूप से बना हुआ है.

15 मौतें हुई: कलेक्टर
चौफाल गांव में मलेरिया का कहर बरपने और  मौतें होने के बाद जिला कलेक्टर एस.एन.शर्मा ने संबंधित अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा आज लिया. चर्चा के दौरान श्री शर्मा ने बताया कि चौफ ाल में चार माह में 15 मौतेंं होनेकी पुष्टिï हुई  हैै. करीब 75 मरीजों की  पैथालॉजी जांच के  बाद सात मरीज ही पाजीटिव मिले. उनका कहना था कि दोषी स्वास्थ्य अमले को शो-काज नोटिस विभाग द्वारा जारी कि ये जा रहे  है.

Related Posts: