इंडियन प्रीमियर लीग-5 का फाइनल आज, मैच का प्रसारण रात 8 बजे से

चेन्नई 26 मई.  विवादों से घिरे रहे आईपीएल के पांचवें सत्र का निर्णायक क्षण नजदीक आ गया है. जिसका सभी को बेसब्री से इंतजार है. एक ओर जहां गत दो बार की विजेता चेन्नई सुपरकिंग्स जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही है. वहीं शानदार प्रदर्शन के दम पर फाइनल में पहुंची कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम अपना पहला खिताब जीतने के लिए बेताब है.

लगभग दो महीने तक चले टूर्नामेंट में नौ टीमों में से खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करके फाइनल में पहुंची चेन्नई और कोलकाता की टीमें जब रविवार को यहां एम ए चिदंबरम स्टेडियम में आमने सामने होंगी तो खिताबी जंग में बेहद रोमांचक मुकाबला होने की उम्मीद है. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई की टीम जहां लगातार तीसरी और कुल चौथी बार फाइनल में जगह बनाने में कामयाब रही है वहीं गौतम गंभीर की कप्तानी वाली कोलकाता की टीम पहली बार फाइनल में पहुंची है. कोलकाता ने दूसरे नंबर की टीम के रूप में प्लेआफ में जगह बनाई थी जबकि, भाग्य की धनी, चेन्नई की टीम अंकतालिका में चौथे नंबर पर रही थी. कोलकाता ने पहले प्लेआफ में अंकतालिका में नंबर वन टीम दिल्ली डेयरडेविल्स को हराकर फाइनल में स्थान सुनिश्चित किया था तो चेन्नई ने दूसरे क्वालीफायर में दिल्ली को मात देकर फाइनल में प्रवेश कर लिया.

चेन्नई की टीम ने भले ही टूर्नामेंट में खराब शुरूआत की थी और भाग्य के दम पर प्लेआफ में जगह बनाई थी लेकिन इसके बाद टीम ने गजब का प्रदर्शन करके बतला दिया कि वह खिताब की प्रबल दावेदार है. चेन्नई की टीम 2008 में उपविजेता रही थी जबकि 2010 और 2011 में उसने खिताब अपने नाम किया था. 2009 में टीम सेमीफाइनल में ही खिताब की होड़ से बाहर हो गई थी. इस बार धोनी के धुरंधरों के पास खिताबी हैट्रिक बनाने का शानदार मौका है. आईपीएल के हर सत्र में हमेशा किसी न किसी विवाद में घिरी रही कोलकाता की टीम का इस बार विवादों ने पीछा नहीं छोड़ा. टीम के मालिक और बालीवुड के बादशाह शाहरुख खान तमाम विवादों में घिरे रहे लेकिन कप्तान गौतम गंभीर की तारीफ करनी होगी जिन्होंने अपनी कप्तानी में इस बार टीम की काया ही पलट दी. कोलकाता की टीम जो अब तक एक भी बार फाइनल में नहीं पहुंच पाई थी और विवादों से घिरी रही थी. गंभीर ने उस टीम को फर्श से अर्श पर पहुंचाया.

हालांकि फाइनल में कोलकाता की जीत की राह बेहद कठिन है. गंभीर के ऊपर गत विजेता सुपरकिंग्स के खिलाफ जीत दर्ज करने का काफी दबाव होगा और प्रतिद्वंद्वी टीम को उसके घरेलू मैदान में मात देना आसान काम नहीं होगा. चेन्नई और कोलकाता के बीच इस सत्र में इससे पहले हुए दो मैचों में पहले मैच में कोलकाता ने पांच विकेट से मैच जीता तो दूसरे मैच में सुपरकिंग्स ने इतने ही विकेट से जीत दर्ज की. यानि रविवार को जब दोनों टीमें आमने सामने होंगी तो बेहद कडा और नजदीकी मुकाबला देखने को मिल सकता है.

फाइनल में दादा की पसंद होगी केकेआर

कोलकाता, 26 मई. गौतम गंभीर की कप्तानी को महेंद्र सिंह धौनी से बेहतर आंकते हुए पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने आज इंडियन प्रीमियर लीग के पांचवें सत्र का फाइनल जीतने के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स पर दांव लगाया.

भारतीय चयनकर्ताओं ने भले ही एशिया कप से पहले गंभीर को टीम इंडिया की उप कप्तानी से हटा दिया हो लेकिन गांगुली ने नाइट राइडर्स के इस सलामी बल्लेबाजी को अपनी सर्वश्रेष्ठ एकादश का कप्तान बनाया है जिसमें धोनी भी शामिल है. गांगुली ने पहले क्वालीफायर में दिल्ली डेययडेविल्स पर कोलकाता की जीत में यूसुफ पठान की 21 गेंद में 40 रन की पारी के संदर्भ में गांगुली ने कहा, गौतम गंभीर आईपीएल का सर्वश्रेष्ठ कप्तान है. वह अपने खिलाडिय़ों का जिस तरह समर्थन करता है वह मुझे पसंद है.

उसने यूसुफ पठान पर अपना भरोसा कायम रखा और उसने दो साल में केकेआर की ओर से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. धौनी चेन्नई सुपरकिंग्स की अगुआई कर रहे हैं और तीन साल में अपने तीसरे आईपीएल फाइनल में खेल रही है. गांगुली ने दोनों टीमों को बराबरी का आंका है और उम्मीद जताई कि नाइट राइडर्स की टीम पांच साल में अपना पहला खिताब जीतने में सफल रहेगी. गांगुली ने कहा, मैं दोनों टीमों को शुभकामनाएं देता हूं लेकिन मैं नया चैंपियन देखना चाहता हूं. मुझे लगता है कि इस बार केकेआर जीतेगा. पूर्व भारतीय कप्तान ने हालांकि कहा कि सुपरकिंग्स के मुख्य खिलाड़ी किसी भी टीम के लिए आदर्श खिलाड़ी हो सकते हैं. गांगुली ने कहा, वे पिछले पांच साल से इसी टीम के साथ खेल रहे हैं और हर बार धोनी, विजय, बद्रीनाथ जैसे खिलाडिय़ों ने टीम में अहम भूमिका निभाई है. मैंने हमेशा कहा है कि छोटे प्रारूप में धौनी की कोई बराबरी नहीं है. टेस्ट क्रिकेट में हालांकि हमेशा उस पर सवालिया निशान रहता है. गांगुली ने कहा कि चेपक में टास अहम भूमिका निभाएगा और यह भी अहम रहेगा कि धौनी की टीम केकेआर के रहस्मयी स्पिनर सुनील नारेन से कैसे निपटती है.

फाइनल के लिए तैयार हैं मुरली विजय

चेन्नई. शानदार शतक लगाकर चेन्नई सुपर किंग्स को दिल्ली डेयरडेविल्स पर 86 रन से जीत दिलाने वाले मुरली विजय ने कहा कि कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ खिताबी मुकाबले के लिए वे तैयार हैं. आईपीएल में दो शतक लगाने वाले विजय एकमात्र बल्लेबाज हैं.

उन्होंने दिल्ली के खिलाफ 113 रन बनाए. वह आईपीएल 2010 में भी शतक जमा चुके हैं. विजय ने कहा कि हम टीम अपने दिन किसी को भी हरा सकती है. हम चीजों को हलके में नहीं ले सकते. यह जरूर कह सकता हूं कि हम फाइनल के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि अपनी पारी का उन्होंने पूरा मजा लिया लेकिन वे इसकी किसी और पारी से तुलना नहीं करना चाहते. उन्होंने कहा कि मैंने अच्छी पारी खेली. मैं हमेशा जीतने के लिए खेलना चाहता हूं. लेकिन इस पारी की तुलना किसी और की पारी से नहीं करना चाहता. यह बात जरूर है कि मैंने इसके लिए काफी मेहनत की. विजय ने कहा कि काफी गर्मी के बीच कई सिंगल और डबल रन लेने पड़े. मैंने पारी का पूरा मजा लिया. विजय ने कहा कि लंबे समय तक टिककर खेलना और पारी के समापन की जिम्मेदारी लेना जरूरी था.

टीम संतुलन के लिए मोर्कल को बाहर बिठाना पड़ा: सिमंस
चेन्नई. दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच एरिक सिमंस ने चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर में पर्पल कैपधारी मोर्न मोर्कल को टीम में शामिल न करने के निर्णय का बचाव करते हुए कहा है कि मैच में संतुलित अंतिम एकादश उतारने के लिए मोर्कल को न खेलाने का मुश्किल फैसला किया गया.

सिमंस ने कहा कि हम मैच में छह बल्लेबाजों, चार गेंदबाजों और एक आलराउंडर के साथ मैदान में उतरना चाहते थे. इरफान पठान के चोटिल होने के बाद हमें आलराउंडर की जरूरत थी इसलिए हमें मोर्कल को न खेलाने का निर्णय लेना पड़ा. आलराउंडर इरफान के चोटिल हो जाने के बाद डेयरडेविल्स ने किसी भारतीय गेंदबाज को शामिल करने के बजाए वेस्टइंडीज के आलराउंडर आंद्रे रसेल को अंतिम एकादश में जगह दी. इसके कारण टीम को चार में से एक विदेशी खिलाड़ी को बाहर बिठाना पड़ा इसी लिए मोर्कल को मैच में नहीं खेलाया गया. हालांकि टीम प्रबंधन को इस निर्णय को इस निर्णय के कारण आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है. मोर्कल टीम के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज साबित हुए हैं और उन्होंने टूर्नामेंट में सर्वाधिक 25 विकेट हासिल किए हैं. इसके अलावा टूर्नामेंट में प्रभावशाली प्रदर्शन करने वाले शाहबाज नदीम के बजाए टीम में तमिलनाडु के आफस्पिनर सन्नी गुप्ता को मौका दिया गया.

गुप्ता ने तीन ओवर में 47 रन लुटाए. दिल्ली के अच्छे गेंदबाजों के अभाव में चेन्नई ने 222 रन का मजबूत स्कोर बनाया और 86 रन के बड़े अंतर से जीत दर्ज की. सिमंस ने कहा कि इरफान हमारे टीम के अहम खिलाड़ी थे. लेकिन उनके चोटिल हो जाने के बाद हमारे सामने टीम संतुलन बनाने का सवाल था. हम इस विषय पर घंटों चर्चा की और फिर रसेल को टीम में खिलाने का निर्णय लिया. आप केवल छह बल्लेबाजों के साथ मैदान में नहीं उतर सकते. उन्होंने कहा कि रसेल ने चार ओवर में 30 रन दिए और 16 रन बनाए. उन्होंने अच्छा योगदान दिया. आईपीएल मैच में आपको सही संतुलन के साथ मैदान में उतरना होता है. इरफान की जगह केवल रसेल को ही टीम में शामिल किया जा सकता था जिसके कारण मोर्न को बाहर बैठना पड़ा. हालांकि कोच ने कहा कि सन्नी को इतने महत्वपूर्ण मैच के लिए टीम में शामिल करना बड़ा जोखिम था लेकिन सुपरकिंग्स क ी बल्लेबाजी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया. उन्होंने कहा कि सन्नी को जगह देना जोखिम भरा निर्णय था. यदि हमने चेन्नई को 180 पर भी रोक दिया होता तो भी हम लक्ष्य का पीछा करने में सफल हो सकते थे.

बल्लेबाजों ने दिलाई जीत

चेन्नई. चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ कल आईपीएल क्वालीफायर में मिली जीत का श्रेय बल्लेबाजों को देते हुए कहा कि बल्लेबाजों ने पारी की शानदार शुरूआत और अंत करके टीम को जीत दिला दी. धोनी ने मैच के बाद कहा कि टीम के हर खिलाड़ी ने अच्छा प्रदर्शन किया.

मुरली विजय और माइकल हसी ने हमें अच्छी शुरूआत दी. सुरेश रैना को शाट्स लगाते देखकर अच्छा लगा और आखिरी में ड्वेन ब्रावो ने पारी का शानदार अंत किया. मुझे लगा था कि दिल्ली की टीम का बल्लेबाजी क्रम लक्ष्य को हासिल कर सकता है लेकिन उसे हासिल करना आसान भी नहीं था. उन्होंने कहा कि इस सत्र की शुरूआत से अब तक हमारे प्रदर्शन में बहुत सुधार आया है. मैं टीम के मालिकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने हमारा समर्थन किया. अब हम फाइनल में जीत के पूरा जोर लगाएंगे और फिर चैंपियंस लीग का खिताब भी एक बार फिर अपने नाम करने की पूरी कोशिश करेंगे. उल्लेखनीय है कि गत चैम्पियन चेन्नयी सुपरकिंग्स ने दिल्ली डेयरडेविल्स को क्वालीफायर में 86 रन के विशाल अंतर से हराकर फाइनल में चौथी बार जगह बनाई है.

Related Posts: