भोपाल, 16 जुलाई. राजधानी में दूर-दराज जिलों, आदिवासी ग्रामीण अंचलो के  हजारों दिहाड़ी मजदूर ठेकेदारों व बिल्डरों के शोषण के शिकार हो रहे है.

उन्हें यह भी नहीं मालूम कि प्रदेश भाजपा सरकार ने उनके अधिकार संरक्षण हेतु गाँव-गाँव से कार्यक्रम चला रहे है या घोषणाएं कर रखी है. ऐसे में जरूरी है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसान पंचायत की तर्ज पर दिहाड़ी मजदूर सम्मेलन बुलावे. यह

Related Posts: