गुवाहाटी, 13 मई. भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने पूर्वोत्तर में विकास की कमी के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए रविवार को कहा कि 11 साल से शासन में रहने के बावजूद वह असम के लोगों की आकांक्षाओं पर खरी नहीं उतरी है.

गडकरी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस पार्टी की गलत आर्थिक नीतियां और भ्रष्टाचार असम और पूर्वोत्तर के मौजूदा हालात के लिए जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि असम देश का पहला राज्य है, जहां वर्षो से बिजली उत्पादन में गिरावट आ रही है. गडकरी ने यहां भाजपा की राज्य कार्यकारिणी की बैठक की अध्यक्षता की. उन्होंने कहा कि पार्टी ने अपने नेताओं को निर्देश दिया है कि वे पार्टी की मजबूती के लिए काम करें, ताकि यह राज्य में कांग्रेस के विकल्प के तौर पर उभर सके. भाजपा राज्य में अगला लोकसभा चुनाव अपने बूते लड़ेगी. उसने असम और पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों के लिए दृष्टि पत्र तैयार किया है. भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारा दस्तावेज समस्याओं के विश्लेषण पर आधारित है और अगर हम केंद्र में सत्ता में आए तो हम परिदृश्य बदल देंगे.

दो दिन की यात्रा पर असम आए गडकरी ने दावा किया कि पूर्वोत्तर में कई क्षेत्रीय पार्टियों ने भाजपा में शामिल होने की इच्छा जताई है. उन्होंने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री चौबा सिंह और मणिपुर के पूर्व मंत्री रंजन सिह हमारे साथ आना चाहते हैं. मैं जल्द इंफाल जाऊंगा, जहां वह हमारी पार्टी में औपचारिक रूप से शामिल होंगे. गडकरी ने कहा कि असम की कई प्रमुख हस्तियां भी भाजपा में शामिल होना चाहती हैं. पूर्वोत्तर में गठबंधन के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें किसी पार्टी से कोई संकेत नहीं मिला है, और राज्य कार्यकारिणी की कल की बैठक में सभी सीटों पर कड़े मुकाबले की तैयारी के लिए पार्टी संगठन को मजबूत करने के तौर तरीके पर चर्चा हुई.

Related Posts: