राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बढ़ती जा रही उलझन, संप्रग में बैठकों का दौर

आजकल में सोनिया करेंगी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की घोषणा

नयी दिल्ली, 14जून. कांग्रेस ने सहयोगी दल तृण मूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी द्वारा राष्ट्रपति पद के लिये सुझाये गये नामों को 24 घंटे के अंदर खारिज कर दिया और कहा कि अभी उम्मीदवार के बारे में अंतिम फैसला नहीं किया गया है.

कांग्रेस महासचिव और मीडिया विभाग के प्रमुख जनार्दन द्विवेदी ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि डॉ. मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री हैं तथा पार्टी उन्हें छोड़ नहीं सकती. सुश्री बनर्जी ने जो दो अन्य नाम सुझाये हैं वे पार्टी को स्वीकार नहीं हैं. सुश्री बनर्जी ने कल समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के साथ साझा प्रेस कांफ्रेंस में राष्ट्रपति पद के लिये डा. सिंह के अलावा पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी के नाम सुझाये थे1 सुश्री बनर्जी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अपनी मुलाकात के तुरंत बाद श्री यादव से विचार विमर्श के बाद कांग्रेस के नामों को दर किनारकर इन नामों की घोषणा की थी. इस पर कांग्रेस की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी थी. श्रीमती गांधी ने आज सुबह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ साथ अलग विचार विमर्श किया और उसके बाद पार्टी ने इस मसले पर अपना रख स्पष्ट किया.

ममता ने मर्यादा तोड़ी: कांग्रेस

ममता के दांव से नाराज कांग्रेस अब मुलायम को साथ लेकर उन्हें किनारा लगाने का मूड बना चुकी है. जनार्दन द्विवेदी ने ममता को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्होंने सोनिया गांधी के साथ बातचीत के दौरान चर्चा में आए प्रणव और हामिद अंसारी का नाम सार्वजनिक करके उन्होंने गठबंधन धर्म का उल्लंघन किया है. द्विवेदी ने कहा कि यूपीए के सहयोगी दलों के बीच चर्चा में प्रणव और हामिद अंसारी का नाम सामने आया था. कांग्रेस ने कोई उम्मीदवार तय नहीं किया है.

कांग्रेस जल्द घोषित करेगी नाम: प्रणव

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात के बाद कहा कि कांग्रेस अपने उम्मीदार का नाम जल्द घोषित करेगी. माना जा रहा है कि कोर ग्रुप की बैठक में मौजूदा राजनीतिक हालात पर विचार किया जाएगा. इसके बाद उम्मीदवार के नाम की घोषणा की जा सकती है.

सोनिया ने कांग्रेस नेताओं, डीएमके से मुलाकात की

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति चुनाव पर संकट के समाधान के लिए गुरुवार को केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी सहित अपनी पार्टी के अन्य नेताओं व द्रविड़ मुनेत्र कडग़म के टीआर बालू से मुलाकात की. तृणमूल कांग्रेस व समाजवादी पार्टी द्वारा कांग्रेस की राष्ट्रपति पद के लिए पसंद को लगभग अस्वीकार कर दिए जाने के एक दिन बाद सोनिया ने अपने 10, जनपथ आवास पर प्रणब, केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम, रक्षा मंत्री एके एंटनी व बालू से मुलाकात की.

राष्ट्रपति को लेकर टकराव क्या यूपीए टूटेगा!

राष्ट्रपति चुनाव पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के बीच शुरू हुआ विवाद यूपीए में फूट की ओर बढ़ता दिख रहा है. जहां कांग्रेस ने ममता पर मर्यादा तोडऩे का आरोप लगाते हुए अब उनसे किसी भी तरह की बातचीत की संभावना से इनकार कर दिया है वहीं तृणमूल ने भी साफ कर दिया है कि वह प्रणव मुखर्जी का नाम किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं करेगी. तृणमूल ने यह भी साफ कर दिया है कि इस मसले पर वह यूपीए छोडऩे का भी फैसला कर सकती है.

कैबिनेट बैठकों का बहिष्कार

इस मामले में कांग्रेस के हमलावर रुख के जवाब में तृणमूल ने भी अपनी त्योरियां और चढ़ा ली हैं. वह अपने तेवर ढीले करने को तैयार नहीं है. कांग्रेस ने जहां ममता के सुझाए तीनों नाम सीधे-सीधे खारिज कर दिए वहीं तृणमूल ने भी साफ कर दिया कि वह प्रणव मुखर्जी के नाम पर किसी भी सूरत में तैयार नहीं होगी. तृणमूल सूत्रों के मुताबिक अगर कांग्रेस प्रणव मुखर्जी के नाम पर अड़ती है तो राष्ट्रपति चुनाव तय माना जाना चाहिए. तृणमूल ने यह भी साफ कर दिया कि वह राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी के सवाल पर शुक्रवार को होने वाली यूपीए के घटक दलों की बैठक में शामिल नहीं होगी. इतना ही नहीं, जब तक इस मसले का हल नहीं निकलता वह कैबिनेट की बैठक में भी शामिल नहीं होगी. इसे यूपीए छोडऩे की परोक्ष धमकी के रूप में लिया जा रहा है.

सोनिया की सहमति से ही नामों का खुलासा : तृणमूल

पश्चिचम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर लग रहे मर्यादा उल्लंघन के आरोप को खारिज करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि दीदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सहमति से ही राष्ट्रपति पद के उसके दो उम्मीदवारों के नामों का खुलासा किया. तृणमूल के सांसद कुनाल घोष ने कहा, सोनिया गांधी से बुधवार को मिलने के बाद ममताजी ने सोनिया से पूछा था कि मीडिया राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बारे में यदि उनसे सवाल करता है तो क्या वह प्रणब मुखर्जी और हामिद अंसारी का नाम ले लेंगी. इस पर सोनिया ने उन्हें पूरी सहमति दी. घोष ने कहा कि ममता ने किसी मर्यादा का उल्लंघन नहीं किया है क्योंकि सोनिया यह अच्छी तरह जानती थीं कि ममता बाहर निकलते ही उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करेंगी.

2014 तक पीएम रहेंगे मनमोहन

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और सूचना व प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने  कहा कि डा. सिंह एक संवैधानिक पद पर है और राष्ट्रपति पद के लिये उनका नाम इस तरह चलाना मर्यादा के अनुरप नहीं है1 उनसे बातचीत किये बिना ऐसा करना किसी को शोभा नहीं देता. श्रीमती सोनी ने कहा कि कांग्रेस पहले ही कह चुकी है कि डा. सिंह प्रधानमंत्री हैं और प्रधानमंत्री बने रहेंगे. इसके बावजूद सुश्री बनर्जी ने संवाददाता सम्मेलन में उनका नाम सामने रखा है जो कतई स्वीकार नहीं है. ऐसा कभी नहीं हुआ कि प्रधानमंत्री पद पर रहते हुये किसी का नाम राष्ट्रपति पद के लिये चलाया गया हो. पार्टी प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने  राष्ट्रपति पद के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की उम्मीदवारी पर उन्होंने कहा कि उनके राष्ट्रपति बनने का सवाल नहीं हैं क्योंकि पार्टी पहले ही साफ कर चुकी है कि मनमोहन सिंह वर्ष 2014 तक प्रधानमंत्री बने रहेंगे.  उधर, यूपीए के एक अन्य सहयोगी दल आरएलडी के अजीत सिंह ने कहा है कि वो यूपीए में हैं और यूपीए के फैसले को स्वीकर करेंगे.

शह और मात का  खेल: भाजपा

नई दिल्ली. भाजपा ने कहा कि कांग्रेस व उसके सहयोगी दल राष्ट्रपति चुनाव में साथ शह और मात का खेल खेल रहे हैं. भाजपा ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की क्वपूर्व लिखित पटकथा के अनुसार सब कुछ हो रहा है. भाजपा प्रवक्ता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह शह और मात का खेल है, जिसे कांग्रेस व उसके सहयोगी खेल रहे हैं. सब कुछ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा पूर्वलिखित पटकथा के अनुरूप हो रहा है.

Related Posts: