• माल भी नहीं आया

(व्यापार प्रतिनिधि)
इंदौर. 10 अप्रैल . खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम के विरोध में तीन दिन प्रदेश बंद रहेगा। इस काले कानून के विरोध में आज दूसरे दिन  भी व्यापारियों ने अपना कारोबार बंद रखा. अनाज, दलहन तिलहन व्यापारियों मंडी नहीं पहुंचे. इन्दौर के साथ प्रदेशभर की मंडियां बंद रही. वहीं अन्य वायापारियों में  किसे ने पेट पर पत्थर बांधकर प्रदर्शन किया  तो किसी ने  कैंडल रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया.

म.प्र. फूड प्रोडक्ट निर्माता एवं विक्रेता संघ के संयोजक सुरेश अग्रवाल, अध्यक्ष रमेश खंडेलवाल और महामंत्री विकास जैन ने बताया कि केंद्र सरकार के इस काले कानून के विरोध में म.प्र. में कारोबार तीन दिनों तक पूरी तरह बंद रहेगा। व्यापरियों ने संजय सेतु से एमटीएच कम्पाउंड भोलेनाथ मंदिर तक कैंडल रैली निकाली। साथ ही जिन छोटे-छोटे इलाकों में दुकानें चालू होंगी वहां जाकर शांतिपूर्ण ढंग से बंद करने का निवेदन किया, वहीं दूध व्यापारियों ने रीगल तिराहा पर पेट पर पत्थर बांध कर विरोध प्रदर्शन किया। व्यापारियों का कहना है कि देश के अन्य राज्यों राजस्थान और पंजाब की राज्य सरकारों ने म.प्र. खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम को लागू करने से मना यिा है अत: म.प्र. सरकार को भी इस पर पुनर्विचार कर स्थगित रखा जाना चाहिए।

खाद्य अधिनियम के विरोध में जिले के देपालपुर, महू, मानपुर, राऊ, गौतमपुरा, हातोद, सांवेर और आसपास के कस्बे भी कल से मुकम्मल बंद हैं। मुख्य बाजार में किराना, होटल, दूध, पान, अनाज व्यापारियों ने बंद का समर्थन कर अधिनियम का विरोध किया। देपालपुर में व्यापारियों ने जुलूस निकालकर नायाब तहसीलदार नारायणसिंह पंवार को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। दीनदयाल चौबे, योगेश जैन, अशोक राठौर, अजय जैन, दिलीप यादव, कैलाश राठौर, पारस मोदी मौजूद थे। आगरा यशवंत सागर के वाहनों को रोककर व्यापारियों ने तीन गाडिय़ों में भरा करीब बीस हजार लीटर दूध सड़क पर बहा दिया।

गेहूं भरने पर जुर्माना
मानपुर में बंद के दौरान एक गोडाउन मेें गेहूं भरते हुए ट्रक को व्यापारियों ने पकड़ा। एसोसिएशन ने गोडाउन संचालक पर पांच हजार एक सौ रुपए का जुर्माना किया।

सब्जी मंडी चालू रहने से राहत

इंदौर. राजकुमार मिल सब्जी मंडी में कामकाज चालू रहने से लोगों को राहत मिली है। उधर चोइथराम मंडी में तीन दिन की हड़ताल रहने से लोग स?जी खरीदने राजकुमार मंडी आ रहे हैं।
मंडी के एसोसिएशन के उपाध्यक्ष किशोर मरमट ने बताया कि मंडी चालू रहने से आवक भी भरपूर हो रही है। शादी-?याह वालों की मांग भी जोरदार होने के साथ-साथ दूर-दराज से लोग मंडी में स?जी खरीदने आ रहे हैं। आवक ‘यादा होने से सब्जियां भी सस्ती बिक रही हैं। सस्ती स?जी मिलने से लोगों में खुशी है।

ये हैं भाव – बेगन 15-20, करेला 25-30, टेंसी 90-100, ककड़ी खीरा 15-20, रेत ककड़ी 15-20, मिर्ची 18-20, शिमला मिर्ची 20-25, कश्मीरी 20-25, चवला 18-20, ग्वारफली 45-50, मैथी 5-6, भिंडी 45-50, कद्दू 8-10, गिलकी 35-40, धनिया 8-10, सुरजने की फली 20-25, बटला 25-30, बालोर 20-25, गाजर 10-12, केरी 35-40, टमाटर 18-20 रुपए किलो।

Related Posts: