ऑटो स्टैंड और कॉलोनियों पर अब होगी प्रशासन की नजर

भोपाल, 9 दिसंबर.नभासं. राजधानी में जिला प्रशासन द्वारा ऑटो चालकों पर सख्ती करते हुए मुख्य सड़कों के बाद अब शहर के समस्त ऑटो स्टैंड सहित कॉलोनियों में भी ऑटो चालकों की चैकिंग करने की रणनीति बनाई गई है.

शुक्रवार को चैकिंग के दौरान 50 से ज्यादा ऑटो की जांच की गई और इनमें से 30 ऑटो पर जुर्माना किया गया. जिला प्रशासन द्वारा यातायात पुलिस, आरटीओ और नापतौल विभाग के अधिकारियों के साथ शुरू किए गए विशेष जांच अभियान के तीसरे दिन भी ऑटो चालकों पर कार्रवाई जारी रही. शहर में करीब 11 हजार ऑटो चल रहें हैं. जिला प्रशासन ने सभी ऑटो चालकों को उनकी ऑटो के पीछे शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर लिखना अनिवार्य किया था, लेकिन शायद ही किसी ऑटो के पीछे शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर लिखा हो. इसके साथ ही ऑटो चालकों को मीटर से किराया लेने के निर्देश दिए गए थे. बावजूद इसके अभी भी यात्रियों को सही मीटर से नहीं, अपितु ऑटो चालकों के मनमाने किराए के हिसाब से ही यात्रा करनी पड़ रही है. इन सबको देखते हुए प्रशासन की सात दिनों की चेतावनी भी ऑटो चालकों पर बेअसर साबित हो रही है.

आटो चालकों के विरुद्घ कार्यवाही
भोपाल शहर में चल रहे आटो वाहनों के विरुद्घ आम जनता से  प्राप्त हो रही शिकायतों को दृष्टिगत रखते हुए ऐसे आटो जो बिना मीटर/बंद मीटर/सवारियों से मोल भाव कर या निर्धारित किराये से अधिक मूल्य पर सवारियां को लाने, ले जाने वाले आटो चालको के विरुद्घ यातायात पुलिस, एवं नापतौल विभाग की टीम के द्वारा संयुक्त रूप से कार्यवाही की गई. जिसमें वल्लभ भवन रोटरी पर 40 आटो चैक किये गये जिसमें से 7 आटो वाहन से उपरोक्त कमी पाई जाने पर उक्त आटो वाहन जप्त की जाकर नियमानुसार कार्यवाही की गई.इसी प्रकार बस स्टैंड चौराहा पर 25 आटो वाहन चैक किये गये जिसमें से 5 आटो के जप्त किये गये एवं मालवीय नगर तिराहा पर 11 आटो वाहन को चैक कियेगये जिसमें 4 आटो वाहन में कमी पाये जाने पर नियमानुसार कार्यवाही की गई है.

Related Posts: