उज्जैन, 10 नवंबर. मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजयसिंह ने कहा कि प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गया है. मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान केवल घोषणा करना जानते है और उनके अब दिन पूरे हो चुके है. प्रदेश की जनता मूर्ख नहीं है जो घोषणावीर मुख्यमंत्री को झेलती रहे.

श्री सिंह कांग्रेस द्वारा आयोजित जन आक्रोश रैली में हिस्सा लेने के बाद गुरुवार को पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे. करीब दस मिनट में उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश की भाजपा सरकार को आड़े हाथों तो लिया ही, अन्ना हजारे को लेकर भी उन्होंने खासी टिप्पणी की. श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश में जितना भ्रष्टाचार है, उतना अन्य राज्यों में नहीं देखने को मिलता. हालांकि श्री सिंह उनके राज्य में हुए भ्रष्टाचार की बात को टाल गए और हम वर्तमान की बात करें तो बेहतर होगा. आज जनता का आक्रोश भाजपा की सरकार के खिलाफ दिखाई दे रहा है. कांग्रेस जनता की आवाज को आंदोलन के माध्यम से सामने लाने का प्रयास कर रही है और इसकी परिणिति गुरुवार को जन आक्रोश रैली के माध्यम से देखने को मिली. इसमें आए किसानों व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की उपस्थिति यह बता रही है कि आंदोलन कितना सफल सिद्ध हुआ. श्री सिंह ने कहा कि अन्ना हजारे को कुछ लोग भ्रमित कर रहे है. उन्हें अपने स्वविवेक से कार्य करना चाहिए. श्री सिंह ने आरोप लगाया कि अन्ना यह क्यों नहीं कहते कि वे भाजपा के लिए कार्य कर रहे है. पूर्व मुख्यमंत्री श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश में अब भाजपा के शासन को उखाड़ फेंकने के लिए जनता ने कमर कस ली है. पत्रकारवार्ता के दौरान सांसद प्रेमचंद गुड्डू, कांग्रेसी नेता दिनेश जैन बोस, श्रीमती पुष्पा चौहान, शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अनंतनारायण मीणा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष जयसिंह दरबार सहित अन्य कई कांग्रेस नेता मौजूद थे.

Related Posts: