नई दिल्ली, 5 जुलाई. इस वर्ष के अंत तक भारत और पाकिस्तान के बीच संक्षिप्त सीरीज आयोजित होने की अटकलों के बीच दोनों देशों के विदेश मंत्रालयों ने क्रिकेट संबंध पुनर्बहाल करने का मामला भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर छोड़ दिया है.

भारत के विदेश सचिव रंजन मथाई और पाकिस्तान के विदेश सचिव जलील अब्बास जिलानी ने दो दिवसीय वार्ता के बाद आज यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि परस्पर क्रिकेट संबंध बहाल करने में सुरक्षा एक अहम मुद्दा है लेकिन खेल और मीडिया संबंधों को पुनर्बहाल करना काफी जरूरी है. मथाई ने कहा कि क्रिकेट संबंधों को फिर से शुरु करना बीसीसीआई और पाकिस्तान की क्रिकेट संस्था पर निर्भर करता है और इन्हें ही इस पर फैसला करना है. जिलानी ने कहा कि उन्होंने इस मसले पर कुछ सुझाव पेश किये और उन्हें उम्मीद है कि इस वार्ता का सकारात्मक परिणाम निकलेगा. उल्लेखनीय है कि मुंबई आतंकवादी हमलों के बाद से भारत-पाक क्रिकेट संबंध स्थगित हैं और इन्हें पुनर्बहाल करने की मांग कई मौकों पर उठती रही है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने भी इस पर बार-बार जोर दिया है लेकिन दोनों देशों के तल्ख कूटनीतिक रिश्तों की वजह से इसे अमल में लाया नहीं जा सका है. पीसीबी अध्यक्ष जका अशरफ ने पद संभालते ही भारत के साथ क्रिकेट रिश्ते फिर से शुरु करने के पूरी कोशिश करने का वादा किया और कई मौकों पर दावा भी किया है कि इस संबंध में उनकी बीसीसीआई अधिकारियों से अनौपचारिक बातचीत भी हुई है. अशरफ के हवाले से आयी खबरों में ही कहा गया था कि इस वर्ष के अंत तक पाकिस्तानी टीम भारत दौरे पर आ सकती है.

सौरभ और धोनी सर्वश्रेष्ठ कप्तान

मैड्रिड. पूर्व भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ का मानना है कि सौरभ गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी देश के सबसे सफलतम कप्तानों में से हैं.

टीम इंडिया की दीवार कहे जाने वाले द्रविड़ ने कहा कि उन्हें अपने करियर में गांगुली और धोनी दोनों की ही कप्तानी में खेलने का मौका मिला है और दोनों ही खिलाड़ी इस पद के लिए उपयुक्त थे. द्रविड़ ने कहा कि सभी कप्तानों में कोई न कोई बात बेहद खास होती है. गांगुली में कप्तानी को लेकर काफी जोश था. उनमें हमेशा जीतने का जज्बा हुआ करता था. वह अपने नेतृत्व में हर वह चीज करते थे जिससे टीम को जीत हासिल हो सके. धोनी के बारे में पूर्व कप्तान ने कहा कि धोनी के पास काफी परिपक्व टीम है. उनमें नेतृत्व करने की बढिय़ा क्षमता है. मैं धोनी के टीम में संतुलन बनाए रखने और अपनी कप्तानी पर भरोसा रखकर खेलने की क्षमता की हमेशा ही प्रशंसा करता हूं.

Related Posts: