राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी को लेकर सरगर्मी

सोनिया से मुलाकात के बाद ममता-मुलायम ने खोले पत्ते

नई दिल्ली, 13 जून. राष्ट्रपति चुनाव को लेकर देश में चल रहे तमाम अटकलों के बीच बुधवार को ममता बनर्जी यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलीं. इसके बाद ममता बनर्जी मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंची.

करीब 45 मिनट चली मुलाकात के बाद ममता-मुलायम ने एक साझा बयान जारी करके राष्ट्रपति पद के लिए तीन नाम सुझाए. मुलायम ने कहा तीन नामों पर हमने विचार किया, पहला नाम है एपीजे अब्दुल कलाम, दूसरा नाम प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, तीसरा नाम पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी. ममता बनर्जी और मुलायम सिंह यादव ने सोनिया गांधी द्वारा सुझाए प्रणब मुखर्जी और हामिद अंसारी के नाम को नकार दिया. प्रणब मुखर्जी का पत्ता काटते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि राष्ट्रपति ऐसा व्यक्ति हो जिसे देश सम्मान से देखता हो.

ममता ने कहा हम सभी सहयोगी दलों से अपील करते हैं कि वो इन तीन नामों में से किसी एक पर सर्वसहमति करे. मुलायम सिंह यादव और ममता बनर्जी द्वारा सोनिया गांधी द्वारा सुझाए गए दोनों नामों को नकारने के बाद कांग्रेस के प्रवक्ता राशिद अलवी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, हमें समाजवादी पार्टी और ममता बनर्जी से पूरी उम्मीद है कि हम सब मिलकर ऐसे नाम पर सहमत हो जाएंगे कि जिस पर सभी राजी हो जाएंगे. इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव पर चर्चा के लिए ममता बनर्जी और सोनिया गांधी की मुलाकात किसी नतीजे पर नहीं पहुंची.

करीब 40 मिनट की मुलाकात के बाद ममता ने कहा था,  सोनिया जी के साथ बहुत विस्तार से बात हुई. उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति पद के लिए कांग्रेस पार्टी की पहली पसंद प्रणब मुखर्जी और दूसरी पसंद हामिद अंसारी है. इस पर मैंने कहा कि हम अभी इसके बारे में कुछ नहीं कह सकते. अभी हम मुलायम सिंह यादव के घर जाएंगे उनसे और अपनी पार्टी के लोगों से बात करके अपना फैसला बताएंगे. वहीं कांग्रेस  की ओर से प्रणब मुखर्जी का नाम सामने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से जुड़े सूत्रों ने भी प्रणब के नाम पर सहमति के संकेत दिए हैं.

कोई डील नहीं: ममता

इससे पहले, ममता ने कहा कि ऋण अदायगी पर तीन साल की रोक की हमारी मांग को राष्ट्रपति चुनावों से नहीं जोड़ा जाना चाहिए.  इस बात में कोई दम नहीं है. वह केवल राज्य के लिए कर्ज अदायगी से राहत चाहती हैं.

भाजपा को समर्थन नहीं

जसवंत सिंह कल मुलायम सिंह से मिले थे, लेकिन समाजवादी पार्टी की ओर से संकेत दे दिए गए हैं कि वह उपराष्ट्रपति के लिए भाजपा के उम्मीदवार का समर्थन नहीं करेगी.

अभी नाम तय नहीं :यादव

राजग के संयोजक शरद यादव ने आज कहा कि विपक्षी गठबंधन ने अभी न तो राष्ट्रपति के लिए और न ही उप राष्ट्रपति पद के लिए कोई नाम तय नहीं किया है.

Related Posts: