माखनलाल विश्वविद्यालय में पोस्टर प्रदर्शनी ‘बेटियां’ का शुभारंभ

भोपाल,18 अक्टूबर.   ‘बेटियों की घटती संख्या एक वैश्विक समस्या है, इसलिए राष्ट्रीय स्तर पर बेटी बचाओ अभियान चलाया जाना चाहिए. इस बार मध्य प्रदेश ने बेटी बचाओ अभियान का सूत्रपात किया है जिसे व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है.

इस अभियान को धर्माचार्यों, इमाम, पादरियों, मठों-मंदिरों सभी का सहयोग मिलना चाहिए. यह विचार माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा आयोजित बेटी बचाओ अभियान से प्रेरित पोस्टर प्रदर्शनी ‘बेटियां’ के शुभारंभ अवसर पर उच्च शिक्षा, जनसंपर्क तथा संस्कृति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने व्यक्त किए.  पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विज्ञापन एव जनसंपर्क विभाग के विद्यार्थियों ने मध्य प्रदेश सरकार के बेटी बचाओ अभियान से प्रेरित होकर इस पोस्टर प्रदर्शनी का आयोजन किया है. इस पोस्टर प्रदर्शनी का विषय ‘बेटियां’ रखा गया है. इस प्रदर्शनी में विद्यार्थियों ने इस अभियान से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर पोस्टर तैयार किए हैं. प्रदर्शनी के शुभारंभ अवसर पर लक्ष्मीकांत शर्मा ने कहा कि सरकारें बहुत सी योजनाएं चलाती हैं, ज्यादातर योजनाएं विकास और अधोसंरचना पर आधारित होती हैं लेकिन सामाजिक विषयों पर वही अभियान सफल होते हैं जिनका उद्देश्य पवित्र होता है. मध्य प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे बेटी बचाओ अभियान को आज व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है और समाज का हर तबका इससे जुड़ रहा है.

दुर्गा नवमी पर 5 अक्टूबर को प्रारंभ हुए इस अभियान के साथ केवल माताएं-बहनें-बहू-बेटियां ही नहीं सम्मिलित हो रही हैं, बल्कि बड़ी संख्या में पुरुष भी इस अभियान में सहयोग दे रहे हैं. बेटियों की चिंता और उनके संरक्षण की बहुत बड़ी जिम्मेदारी पुरुष वर्ग की है. सबसे बड़ी विडंबना यह है कि आज शहरी और संभ्रांत लोग ही बेटियों की ज्यादा हत्या कर रहे हैं, ग्रामीण और आदिवासी समाज में यह समस्या अभी नहीं है. शर्मा ने इस आयोजन के लिए विश्वविद्यालय के विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के विद्यार्थियों को बधाई दी साथ ही इस तरह की प्रदर्शनी को प्रदेश स्तर पर करने का सुझाव भी दिया. उन्होंने कहा कि प्रदेश का जनसंपर्क विभाग इस कार्य में पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का पूरा सहयोग करेगा.  इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला ने कहा कि एक अच्छा विश्वविद्यालय वह है जो समाज और राष्ट्र की समस्याओं के समाधान भी खोजता है. आज बेटियों के तिरस्कार और भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक विकृत्ति हमारे देश में पैदा हो गई है जो कि चिंताजनक है. हम सबको मिलकर इस विकृत्ति को जड़ से समाप्त करना होगा.

विश्वविद्यालय बेटी बचाओ अभियान को जन-जन तक को पहुंचाने के लिए संकल्पित है. हमारी आगे कोशिश होगी कि हम इस अभियान के पक्ष में एक बेहतर संचार-रणनीति तैयार कर सकें. साथ ही इस रणनीति को योजनाबद्ध तरीके से अमल में ला सकें. इस अवसर पर प्रो. कुठियाला ने बताया कि विश्वविद्यालय वर्तमान शिक्षा सत्र में विभिन्न रोजगारमूलक विषयों पर सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों का आरंभ कर रहा है. इस कार्यक्रम में इन पाठ्यक्रमों की विवरणिका का विमोचन भी श्री लक्ष्मीकांत शर्मा एवं उपस्थित विद्वजनों ने किया.  इस अवसर पर विश्वविद्यालय के नोएडा परिसर के प्रो. अशोक टंडन, लखनऊ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ. रमेश चंद्र त्रिपाठी, विश्वविद्यालय के विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के अध्यक्ष डॉ. पवित्र श्रीवास्तव, कुलसचिव डॉ. चंदर सोनाने और विश्वविद्यालय के समस्त शिक्षक अधिकारी एवं विद्यार्थी उपस्थित थे. विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित पोस्टर प्रदर्शनी आगामी तीन दिनों तक मीडिया कर्मी, आम जनता एवं प्रबुद्धजनों के लिए खुली रहेगी.

Related Posts: