सिरोंज 5 अक्टूबर. जनसंपर्क मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने कहा कि आज हर क्षेत्र में बेटियों ने बेटों से ज्यादा उपलब्धियाँ हासिल की हैं। शिक्षा के परिणामों के अध्ययन से भी यह सिद्ध हुआ है कि लिंगानुपात की दृष्टि से बेटियाँ भले ही पीछे हों, लेकिन मेरिट में वे आगे हैं।

श्री शर्मा ने बुधवार को यहां बेटी बचाओं अभियान की शुरूआत के अवसर पर संबोधित कर रहे थे उन्होंने  कहा कि   जनसंख्या की दृष्टि से बेटियों के लिंगानुपात में कमी चिन्ता का विषय है और इसीलिये घर, परिवार, समाज, प्रदेश और देश के कल को बचाने के लिये मध्यप्रदेश सरकार ने आज यह बेटी बचाओ अभियान शुरू किया है। जनसंपर्क मंत्री ने कहा कि लिंगानुपात से उत्पन्न खतरे की घंटी आहट से समाज को अवगत कराकर लोगों की सोच में बदलाव करना इस अभियान का उद्देश्य है, ताकि भ्रूण हत्या जैसी आपराधिक सोच पूरी तरह से समाप्त हो और बेटे.बेटियाँ सामान्य रूप से ईश्वरीय समानुपात में जन्म ले सकें.

उन्होंने  शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित समारोह में माँ दुर्गा के विभिन्न स्वरूपों में स्थापित नौ कन्याओं का पूजन किया और कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित सभी कन्याओं की सामूहिक आरती की। शर्मा ने तीन ऐसे अभिभावकों का सम्मान भी किया, जिन्होंने कन्या होने के बाद भी परिवार नियोजन अपनाया। इन अभिभावकों ने समाज को बेटे बेटी को समान रूप से देखने का ऐसा प्रभावी संदेश दिया है जो प्रेरणास्पद है। जनसंपर्क मंत्री ने कहा कि बेटी बचाओ अभियान पूरे वर्ष चलेगा। इसे बाद में भी चलाया जायेगा ताकि समाज में बेटियों के जन्म के प्रति सकारात्मक सोच और जागृति मजबूत होती रहे।

Related Posts: