भोपाल,27 जून, मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से हाल ही में आयकर विभाग छापों की जद में आये भारतीय जनता पार्टी से जुडे दो व्यवसायियों से राज्य मंत्रिमंडल के सदस्यों और पार्टी के अन्य नेताओं के संबंध को उजागर करने की मांग की है.

सिंह ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि आयकर छापे की कार्यवाही में भाजपा से जुडे व्यवसायी दिलीप सूर्यवंशी और सुधीर शर्मा के ठिकानों से राज्य शासन की नोटशीट और तबादले के संबंध में दस्तावेज मिले है.इससे स्पष्ट होता है कि इन व्यावसायियों के सत्ता में बैठे प्रमुख लोगों से सीधे संबंध है. उन्होंने कहा कि छापे में प्रदेश के संस्कृ ति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा की विदेशी पिस्तौल सुधीर शर्मा के भागीदार के पास मिली है जबकि उक्त मंत्री ने पिछले विधानसभा चुनाव और विधानसभा में अपनी संपत्ति विवरण में इसका जिक्र नही किया है. मंत्री की पिस्तौल के संबंध में आयकर विभाग ने पुलिस को प्रकरण सौंप दिया है इसलिए राज्य सरकार को इस मामले में अविलंब कार्यवाही करना चाहिए.

सिंह ने आरोप लगाया कि आयकर छापे में राज्य सरकार के मंत्रियों और भाजपा नेताओ के संबंध में जो सच्चाई उजागर हो रही है उससे संबंधित तथ्य भी मीडिया में प्रकाशित नही होने दिये जा रहे है.सिंह ने कहा कि उन्होंने छापे के संबंध में मुख्यमंत्री से 11 सवाल पूछे है. यदि इन सवालों के जवाब जल्दी नही दिये गए तो कांग्रेस सडक पर उतरकर इस मामलें को शहरों के चौराहों से लेकर गांवों की चौपाल तक जनता के बीच ले जायेगी. साथ इस मामले को विधानसभा के आगामी सत्र में जोरदार तरीके से उठायेगी. सिंह ने कहा कि कहा कि इन व्यावसायियों से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया और अन्य नेताओं के व्यावसायिक संबंध में यदि तथ्य स्थापित होंगे तो पार्टी इस मामले में निर्णय लेगी और जहां तक कांग्रेस के नेताओं द्वारा चंदा लेने की बात है तो इसका जवाब भूरिया दे चुके है.

Related Posts: