• इंग्लैंड टीम 3-0 से पिछड़ी

अंपायर से छीनी कैप तो ब्रेसनन पर लगा जुर्माना
मोहाली.  इंग्लैंड के तेज गेंदबाज टिम ब्रेसनन पर गुरुवार रात को भारत के खिलाफ तीसरे वनडे इंटरनेशनल मैच के दौरान अंपायर सुधीर असनानी से कैप छीनने के लिए कल मैच फीस का 7.5 फीसदी जुर्माना लगाया गया. यह घटना 18वें ओवर के अंत में हुई जब ब्रेसनन ने अपना पांचवां ओवर समाप्त करने के बाद असनानी से अपनी कैप छीन ली. आईसीसी विज्ञप्ति के अनुसार ब्रेसनन को आईसीसी आचार संहिता की धारा 2.1.3 के उल्लंघन का दोषी पाया गया जो अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अंपायर के फैसले पर असहमति जताने से संबंधित है जिसमें अंपायर से कैप छीनना भी शामिल है. आईसीसी मैच रेफरी रोशन महानामा ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों को मैचों के दौरान उचित व्यवहार करना चाहिए. उन्होंने कहा अंपायर सिर्फ इसलिए सम्मान के हकदार नहीं हैं क्योंकि वह क्रीज पर कठिन भूमिका निभाते हैंए बल्कि इसलिए क्योंकि लाखों उभरते क्रिकेटर इन खिलाडिय़ों के हर कदम को देखते हैं.  सभी लेवल एक के उल्लघंन में अधिकारिक फटकार का न्यूनतम जुर्माना और अधिकतम जुर्माना खिलाड़ी की मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना शामिल है.

हमारे खिलाडिय़ों ने अज्छा नहीं खेला
इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक ने दूसरी तरफ हार के लिए क्षेत्ररक्षकों को कोसा. उन्होंने कहा हमने अहम मौके पर कैच छोड़े और हमारा क्षेत्ररक्षण भी अच्छा नहीं था जिससे 20 से 25 रन अधिक दे दिए. यह हमारे लिए सामान्य बात नहीं है और यही दोनों टीमों के बीच का अंतर साबित हुआ. कुक ने भारतीय कप्तान धौनी और रविंद्र जडेजा की भी तारीफ की जिन्होंने मुश्किल हालात में नाबाद 65 रन जोड़कर भारत को जीत दिलाई. उन्होंने कहा लक्ष्य मुश्किल था और उनकी शुरुआत अच्छी हुई लेकिन हमें पता था कि कुछ विकेट हमें वापसी दिला सकते हैं. छह रन प्रति ओवर हमेशा मुश्किल लक्ष्य होता है लेकिन धौनी और जडेजा ने जिस तरह पारी को अंजाम तक पहुंचाया उन्हें श्रेय जाता है. कुक ने सीरीज के बाकी बचे दो मैचों में वापसी का भरोसा दिलाया.  रहाणे को 91 रन की पारी खेलने के लिए मैन आफ द मैच चुना गया और उन्होंने कहा कि वह अपनी भूमिका का लुत्फ उठा रहे हैं. उन्होंने कहाए श्पिछले कुछ मैच मेरे लिए अच्छे नहीं रहे. लेकिन मैं अच्छी पारी खेलने के लिए प्रतिबद्ध था. मैं टीम प्रबंधन का आभारी हूं जिन्होंने मुझे पर भरोसा बरकरार रखा. रहाणे ने कहा सीरीज जीतने वाली टीम का हिस्सा होना सपना सच होने के समान है. मैं सलामी बल्लेबाज की अपनी भूमिका का भी पूरा लुत्फ उठा रहा हूं.

अपने क्षेत्ररक्षकों को भी गधा कहेंगे हुसैन
नई दिल्ली. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने भारत के पिछले इंग्लैंड दौरे में भारतीय टीम के प्रदर्शन की कड़ी आलोचना करते हुए कुछ खिलाडिय़ों के लिए आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग कर डाला थाए लेकिन इंग्लैंड के भारत दौरे में पहले तीन एकदिवसीय गंवा देने के बाद अब क्या वह उस शब्द का प्रयोग अपने देश के खिलाडिय़ों के लिए करेंगे.
हुसैन ने पिछली शृंखला में कमेंट्री के दौरान कुछ भारतीय खिलाडिय़ों के क्षेत्ररक्षण पर सवाल उठाते हुए अभद्र शब्द का इस्तेमाल किया था जिसकी भारत में कड़ी आलोचना हुई थी और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने भी उस पर आपत्ति जतायी थी.मौजूदा शृंखला में इंग्लैंड पहले तीन एकदिवसीय क्रमशरू 126 रनए आठ विकेट और पांच विकेट से गंवा चुका है और उसका भारत में 27 वर्ष के बाद शृंखला जीतने का सपना भी टूट चुका है.

इंग्लैंड का पहले दो एकदिवसीय में निराशाजनक प्रदर्शन रहा था जबकि तीसरे एकदिवसीय में इंग्लिश टीम 298 रन का बड़ा स्कोर बनाने के बावजूद उसका बचाव नहीं कर पायी थी.
इन तीनों ही एकदिवसीय में इंग्लैंड का क्षेत्ररक्षण बेहद लचर रहा है. उसके खिलाडिय़ों ने न केवल कैच छोड़े हैं बल्कि कई बार गेंद उनके हाथों के नीचे से निकलते हुए सीमा रेखा पार गयी. इंग्लैंड ने घरेलू शृंखला में अपने शानदार क्षेत्ररक्षण की बदौलत ही जीत हासिल की थीए लेकिन भारत दौरे में गेंद जैसे उनके हाथों से फि सल रही है. अपनी लगातार पराजय से इंग्लिश खिलाड़ी इतने बौखला गये हैं कि वे स्लेजिंग पर उतर आये हैं. इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टेयर कुक ने भी स्वीकार किया है कि उनकी फ ील्डिंग का स्तर गिर गया है. कुक ने कहा हमारी फ ील्डिंग अपने वास्तविक स्तर से नीचे चली गयी है जिसका खामियाजा हमें भुगतना पड़ रहा है. मोहाली में तीसरे एकदिवसीय में हमने कमजोर फिल्डिंग के कारण भारत को 20 से 25 रन अतिरिक्त दे दिये और यही हमारी हार का सबसे बड़ा कारण रहा.

खेल में बदला जैसे शब्द का इस्तेमाल सही नहीं
मोहाली. भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच मैचों की वनडे सीरीज को शुरू से ही बदला चुकता करने वाली सीरीज के रूप में देखा जा रहा हैए लेकिन टीम इंडिया के कैप्टन कूल की माने तो खेल में बदला जैसे शब्द का इस्तेमाल करना ठीक नहीं है. भारत ने गुरुवार को मोहाली वनडे में जीत दर्ज कर सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली है.

धौनी ने कहा खेल में बदला चुकता करना एक कड़ा शब्द है. माही के नाम से मशहूर धौनी के मुताबिक खेल में बदला अत्यंत कड़ा शब्द होता है. मुझे नहीं लगता कि इस शब्द का इस्तेमाल खेल में किया जाना चाहिए. एक ओर तो हम खेल भावना की बात करते हैं तो दूसरी ओर हम प्रतिशोध की बात कर रहे हैं. धौनी ने चोटिल होने की वजह से कुछ वरिष्ठ खिलाडिय़ों के नहीं खेलने के बावजूद अपनी टीम के बेहतर प्रदर्शन की प्रशंसा की. उन्होंने कहा जहां तक वनडे प्रारूप की बात है मैं अपनी टीम के प्रदर्शन से काफी खुश हूं. यहां हालात हमारे पक्ष में रहे. गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की जो हमारे लिए सकारात्मक रही.

Related Posts:

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अन्तर्गत 27 विवाह
सेरेना और नोवाक को यूएस ओपन में सीधे प्रवेश
नीतीश कुमार जद यू विधायक दल के नेता चुने गये
सपा बसपा की मिलीभगत का भ्रामक प्रचार कर रहे है मोदी : मायावती
फ्रांस में इमैनुएल मैक्रोन ने भारी मतों से राष्ट्रपति चुनाव जीता
त्रिपुरा में बाढ़ की स्थिति गंभीर ,12000 से अधिक लोग बेघर