पिपलेश्वर महादेव मंदिर  में बैठक हुई

भोपाल, 3 नवंबर.अखिल भारत वर्षीय धर्म संघ शाखा मध्यप्रदेश जिला भोपाल की गुरुवार को पिपलेश्वर महादेव मंदिर नेहरु नगर में बैठक हुई जिसमें राज्य सरकार द्वारा देवस्थल प्रबंधन विधेयक लाये जाने पर विचार-विमर्श के उपरान्त तत्काल विधेयक का विरोध करने का स्थल प्रबंधन विधेयक लाये जाने पर विचार-विमर्श के उपरान्त तत्काल विधेयक का विरोध करने का सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया.

विधेयक के माध्यम से शासन धार्मिक स्थलों पर हस्तक्षेप कर सरकारीकरण करना चाहती है. जो सनातन धर्म की मर्यादा के विरुद्घ एवं अन्याय व उन पर कुठाराघात करने का षडय़ंत्र है. शासन धर्मस्थ विभाग, धार्मिक स्थलों का प्रबंधन अधिपत्य जमाने का असफल प्रयास बंद करें जो सरकार शासकीय संपत्तियों, भवनों का सम्यक रखरखाव नहीं कर पाती है. वह क्या मंदिरों का संचालन व्यवस्था को सुव्यवस्थित व सनातन धर्म की मर्यादा के अनुरूप समझ सकेगी. बैठक में आचार्य पंडित गंगाप्रसाद शास्त्री, महन्त नारायणदास, उदासीन महन्त मुकेश गिरी, संत कन्हैयालाल, पंडित कमलेश दबे, नारायण पाठक, आनंद दुबे, महन्त दयादास त्यागी, प्रहलाद सिंह यादव, मोहन बालोटिया, पंडित अशोक भट्ट, विष्णु प्रसाद शास्त्री आदि सभी उपस्थित वक्ताओं ने एक स्वर में विधेयक का विरोध करते हुए शासन प्रशासन से धार्मिक स्थलों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की. एवं इस संबंध में सन्त पुजारियों ने नवंबर माह में एक दिवसीय सन्त पुजारी सम्मेलन करने का निर्णय भी लिया.

Related Posts: