कोलंबो, 26 सितंबर. क्या टीम इण्डिया में फिर से दरार आ गई है? क्या टीम इण्डिया के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग के बीच फिर से कोल्ड वॉर शुरू हो गई है? ये सवाल इसलिए खड़े हुए है क्योंकि टी-20 विश्वकप में इंग्लैण्ड के खिलाफ मैच के दौरान टीम में शामिल नहीं किए जाने से सहवाग नाराज हैं.

फस्र्ट पोस्ट डॉट कॉम के मुताबिक जब पूरी टीम नेट प्रैक्टिस कर रही थी तब सहवाग आखिरी बैंच पर बैठे हुए थे. तीन घंटे की प्रैक्टिस के दौरान सहवाग दर्शक की तरह मैदान में बैठे रहे. न तो उन्होंने पैड पहनकर बल्लेबाजी की और न ही गेंदबाजी. सहवाग साथी खिलाडिय़ों से कटे-कटे नजर आ रहे थे. सहवाग का ऐसा स्वभाव नहीं हैं. पहले खबर आई थी कि सहवाग की अंगुली में चोट लगी है इसलिए उन्होंने अभ्यास नहीं किया लेकिन उनकी चोट को लेकर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है. धोनी और सहवाग के बीच का मनमुटाव नया नहीं है. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान धोनी ने रोटेशन पॉलिसी अपनाई थी.

इस पॉलिसी के तहत वरिष्ठ खिलाडिय़ों को एक-एक बार बाहर बिठाया गया था. इससे सहवाग नाराज हो गए थे. उन्होंने खुले आम धोनी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. उस समय यह भी खबर आई थी कि सहवाग टीम में दरार डालने की कोशिश कर रहे हैं.

सहवाग के खेलने पर सस्पेंस

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से पहले सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग चोटिल हो गए हैं. सहवाग के अंगुली में चोट लगी है. सूत्रों के मुताबिक इंग्लैण्ड के खिलाफ मैच से पहले प्रैक्टिस के दौरान सहवाग चोटिल हो गए थेे. इसके बाद सहवाग ने तीन घंटे के नेट सेशन के दौरान प्रैक्टिस नहीं की. हालांकि चोट कितनी गंभीर है इसका पता नहीं चल पाया है लेकिन सहवाग से पहले इरफान पठान को पैड पहनते हुए देखने से सहवाग की उपलब्धता को संदेह पैदा हो रहा है. टीम के सूत्रों के मुताबिक सहवाग ठीक है. उन्हें सिर्फ आराम दिया गया है ताकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से पहले उनकी चोट ज्यादा न बढ़ जाए. गौरतलब है कि इंग्लैण्ड के खिलाफ मैच के दौरान सहवाग को टीम में शामिल नहीं किया गया था. उनकी जगह इरफान पठान ने गौतम गंभीर के साथ ओपनिंग की थी लेकिन पठान चल नहीं पाए और धोनी का फॉर्मूला फेल हो गया.

Related Posts: