मुंबई .सुबह से तेजी के साथ कारोबार कर रहे बाजार कारोबार खत्म होने तक गिरावट के साथ बंद हुए। आर्थिक सुधारों को बढ़ावा देने के लिए उठाए गये कदमों से बाजार निराश हुए। रिजर्व बैंक ने नई परियोजनाओं के लिए कर्ज और रुपये में ऋणों के लिए ईसीबी की सीमा 10 अरब डॉलर बढ़ाई।

इसके अलावा सरकारी बॉन्डों में एफआईआई की निवेश सीमा बढ़ाकर 20 अरब डॉलर की गई। बाजार करीब 0.7 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए। सेंसेक्स 90 अंक गिरकर 16,882 के स्तर पर और निफ्टी 31 अंक की गिरावट के साथ 5,115 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं दूसरी ओर एशियाई बाजार गिरावट के साथ बंद हुए। जापान का निक्केई करीब 1 फीसदी की गिरावट के साथ 8,735 के स्तर पर और हैंगसेंग करीब आधे फीसदी गिरकर 18,897 के स्तर पर बंद हुआ।

इसके अलावा यूरोपीय बाजारों की शुरुआत भी सुस्त रही। एफटीएसई, सीएसी और डैक्स सहित सभी प्रमुख यूरोपीय बाजारों में आधे से एक फीसदी की गिरावट दर्ज की जा रही है। घरेलू बाजारों में हीरो मोटोकॉर्प निफ्टी का टॉप लूजर रहा। कंपनी के शेयरों में करीब 2.7 फीसदी की गिरावट रही। सीमेंस, ग्रासिम, सिप्ला और जेपी एसोसिएट्स के शेयरों में भी गिरावट देखने को मिली। वहीं दूसरी ओर केयर्न इंडिया, गेल, रिलायंस इंडस्ट्रीज, अंबुजा सीमेंट और मारुति सुजूकी के शेयरों में तेजी का रुख देखने को मिला। कंज्यूमर ड्यूरेबल्स इंडेक्स में आई मामूली तेजी के अलावा सभी सेक्टोरल इंडिसेज में गिरावट दर्ज की गई। आरबीआई की घोषणा के बाद बैंकिंग शेयरों में बिकवाली का दबाव बढ़ता दिखा। सकारात्मक खबरों के आधार पर तेज कारोबार करने वाले शेयरों में रिलायंस इंडस्ट्रीज, सन टीवी, एच-सी-सी और एस-के-एस माइक्रोफाइनैंस प्रमुख रहे। डेयरी  भाव-शुद्ध घी 300, मक्खन 260, क्रीम 220, पनीर 220, चक्का 120, दही 48, श्रीखंड 170 रुपए.

Related Posts: