• भाजपा नेताओं ने कहा ये ठीक नहीं

बैरागढ़ 13 नवम्बर (सं)– संत हिरदाराम नगर में भाजपा के खिलाफ बगावत करने वाले तीन बागियों को माफीनामा लिखवाकर भाजपा ने वापसी करा ली है. जिन लोगों की वापसी हुई है उनमें वर्तमान वार्ड नं.-3 की पार्षद श्रीमती ईश्वरी नाथानी, वार्ड-1 की भगवती मीणा, वार्ड-2 के पार्षद कृष्ण मोहन सोनी के खिलाफ चुनाव लडऩे वाले राजेश शर्मा के नाम प्रमुख हैं.

इनकी वापसी से बैरागढ़ में कोई भी नेता मुंह खोलने को तैयार नहीं हैं लेकिन इनकी वापसी उनको अंदर ही अंदर खल रही है. उल्लेखनीय रहे कि 2009 में हुए नगर निगम चुनाव इन नेताओं ने भाजपा के टिकिट पर लड़े प्रत्याशियों के खिलाफ बगावत कर चुनाव मैदान में उतरे थे जिन्हें अनुशासन हीनता के खिलाफ निष्कासित कर दिया गया था. जिन प्रत्याशियों को भाजपा ने टिकिट देकर मैदान में उतारा था उन नेताओं को हराने में इन बागी उम्मीदवारों ने कोई कसर नहीं छोड़ी. भाजपा की ओर से टिकिट पर लडऩे वाली पूनम भारानी को पराजय का सामना करना पड़ा था जबकि वार्ड-2 से चुनाव लड़े कृष्ण मोहन सोनी के खिलाफ राजेश शर्मा ने बगावत की थी. उधर वार्ड-1 से वर्षा भागचंदानी को टिकिट दिया गया था जहां उनके खिलाफ भगवती मीणा ने निर्दलीय उम्मीदवार के खिलाफ चुनाव लड़ा था जिसका फायदा कांग्रेस की वर्तमान पार्षद शमीमा बेगम को मिला था. इन्हीं नेताओं ने आडवानी व सुघमा स्वराज के आगमन पर काले झण्डे दिखाने की भी घोषणा की थी हालांकि कुछ नेताओं को कारण बताओ नोटिस भी जारी किए गए थे जिन्होंने भाजपा प्रत्याशियों के खिलाफ बगावत की थी.

हालांकि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने भोपाल के 12 बागी उम्मीदवारोंं को पार्टी से बाहर कर दिया था. अब इनकी वापसी को लेकर बैरागढ़ के नेताओं में कई तरह की चर्चाएं चल पड़ी हैं. हालांकि कोई भी नेता इन नेताओं पर टिप्पणी नहीं करना चाहता है क्योंकि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सख्त रवैया अपनाए हुए हैं. बैरागढ़ में ऐसे कई नेता है जिन्होंने भाजपा प्रत्याशियों के खिलाफ बगावत की थी और निर्दलीय विधायक का चुनाव लड़े  भगवानदास सबनानी के साथ कई नेताओं ने प्रचार किया और आज वही नेता डागा के साथ घूमते नजर आ रहे हैं.

Related Posts: