इंडियन प्रीमियर लीग-2012, सीजन-5

मोहाली 13 अप्रैल. दाएं हाथ के तेज गेंदबाज दिमित्रि मस्कारनेहास (25 रन पर पांच विकेट) की घातक गेंदबाजी के बाद शॉन मार्श (64) के शानदार अर्धशतक की बदौलत किंग्स इलेवन पंजाब ने गुरुवार को यहां पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेले गए आईपीएल मैच में पुणे वॉरियर्स को 14 गेंदें शेष रहते सात विकेट से हराकर सत्र में अपनी पहली जीत दर्ज कर ली.

मस्कारेनहास की आंधी में पुणे वॉरियर्स की टीम 19 ओवर में ही 115 रनों के मामूली स्कोर पर पर ढेर हो गई. किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 17.4 ओवर में ही तीन विकेट गंवाकर 116 का लक्ष्य हासिल करके जहां अंकतालिका में खाता खोल दिया वहीं वॉरियर्स से पिछली हार का बदला लेते हुए उन्हें जीत की हैट्रिक बनाने से रोक दिया. टीम की ओर से मार्श ने नाबाद 64 रन की पारी में 54 गेंदों का सामना करते हुए सात चौके जड़े और एक छक्का मारा. उन्होंने अर्धशतक 49 गेंदों में सात चौकों के सहारे पूरा किया. इस जीत के साथ ही किंग्स इलेवन के दो अंक हो गए हैं. टीम ने अब तक तीन मैच खेले हैं जिसमें उसे शुरूआती दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा था.

वहीं अपने शुरूआती दोनों मैच जीतने वाले वारियर्स के पहले की तरह चार अंक है, लेकिन अब तक खेले तीन मैचों में से एक मैच हारकर टीम दूसरे से तीसरे स्थान पर खिसक गई है. किंग्स इलेवन ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया. पुणे ही टीम पूरे मैच में किंग्स इलेवन के गेंदबाजों के सामने पानी भरती नजर आई. टीम का एक भी बल्लेबाज क्रीज पर टिककर बड़ी पारी नहीं खेल सका. मस्कारेनहास ने कप्तान सौरभ गांगुली (16), मार्लोन सैम्युल्स (2), रॉबिन उथप्पा (17), मिथुन मनहास (31) और राहुल शर्मा (2) को आउट करके वॉरियर्स के बल्लेबाजी क्रम की कमर ही तोड़ दी. उन्होंने चार ओवर में 25 रन देकर पांच विकेट चटके. हरमीत सिंह ने तीन ओवर में 23 रन देकर एंजेलो मैथ्यूज (11) और मनीष पांडे (शून्य) के विकेट चटकाए जबकि पीयूष चावला ने चार ओवर में 23 रन देकर स्टीवन स्मिथ (13) को आउट किया. पुणे वॉरियर्स की पारी की शुरूआत और अंत दोनों बेहद खराब रहे. टीम ने 51 रन पर पांच विकेट और 100 रन पर सात विकेट गंवा दिए थे. टीम की ओर से मिथुन मनहास ने सर्वाधिक 31 रन बनाए. उन्होंने 28 गेंदों में तीन चौके और एक छक्का जड़ा.

वॉरियर्स के सलामी बल्लेबाज जेसी राइडर सात रन बनाकर ही रनआउट हो गए. इसके बाद गांगुली, सैम्युल्स, मैथ्यूज, उथप्पा, स्मिथ और पांडे भी सस्ते में ही निपट गए. मनहास ने टीम को संभालने की कोशिश की मगर वह नाकाम रहे. मनहास के आउट होने के बाद राहुल शर्मा भी दो रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद अशोक डिंडा (दो) के रनआउट होते ही पूरी पारी ही सिमट गई. इसके बाद 116 के मामूली लक्ष्य का पीछा करने उतरी किंग्स इलेवन टीम की शुरूआत खराब रही और उसका पहला विकेट पॉल वलथाटी के रूप में खाता खोले बिना ही गिर गया, लेकिन शॉन मार्श ने दूसरे विकेट के लिए कप्तान एडम गिलक्रिस्ट (21) के साथ 50, मनदीप सिंह (10) के साथ तीसरे विकेट के लिए 20 और फिर चौथे विकेट के लिए पीयूष चावला (21) के साथ 46 रन की अविजित साझेदारी करके टीम को जीत की मंजिल तक पहुंचाया. पुणे की ओर से डिंडा, मैथ्यूज और राहुल को एक-एक विकेट मिला. डिंडा ने वलथाटी को पहले ओवर की पहले ही गेंद पर बोल्ड कर दिया. मैथ्यूज को गिलक्रिस्ट और राहुल को मनदीप का विकेट मिला.

किंग्स इलेवन पंजाब की शिकायत की

नई दिल्ली. महाराष्ट्र क्रिकेट संघ ने पुणे वारियर्स के विरूद्ध मैच के दौरान कथित तौर पर ड्रेसिंग रूम को नुकसान पहुंचाने के लिए किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ आइपीएल अधिकारियों से शिकायत की है.

आइपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला को की गई शिकायत में एमसीए अधिकारियों ने कहा कि किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान एडम गिलक्रिस्ट ने सिर्फ छह रन पर आउट होने के बाद नाराजगी में ड्रेसिंग रूम का दरवाजा तोड़ दिया था. इस तरह की घटना से जुड़े नियमों के तहत शुक्ला ने अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए शिकायत मैच रैफरी को सौंप दी, लेकिन आइपीएल सूत्रों के मुताबिक शुरुआती जाच में पता चला है कि नुकसान पॉल वाल्थाटी ने किया था गिलक्रिस्ट ने नहीं. वाल्थाटी सजा से बच गए, क्योंकि यह नुकसान गलती से हुआ जानबूझकर नहीं.

मुख्य आरोपी गिरफ्तार

बेंगलुरू. कर्नाटक के बेंगलुरू में एम. चिन्नास्वामी क्रिकेट स्टेडियम में आईपीएल-3 के दौरान 17 अप्रैल 2010 को हुए बम विस्फोट मामले के मुख्य आरोपी कमल हसन उर्फ बिलाल उर्फ बिल्लु (24) को गिरफ्तार किया गया है.

शहर पुलिस आयुक्त ज्योति प्रकाश मिर्जी ने कहा कि इंडियन मुजाहिद्दीन का सदस्य तथा विस्फोट का मुख्य साजिशकर्ता मोहम्मद अहमद सिद्धीबापा जरार उर्फ चासीन भटकल के करीबी हसन को 10 अप्रैल को कोलकाता से गिरफ्तार किया गया है. मिर्जी ने बताया कि आरोपी हसन को कोलकाता से बेंगलुरू लाने के बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जहां से उसे हिरासत में भेज दिया गया. बिहार के मधुबनी का रहने वाला हसन मुख्यतौर पर आईएम द्वारा करवाए जाने वाले विस्फोटों के लिए उपयोग किए जाने वाले विस्फोटक उपलब्ध कराने का काम करता था. हसन भटकल के साथ बिहार, पश्चिम बंगाल, नेपाल, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में अपनी गतिविधियां चलाता था.

Related Posts: