नई दिल्ली, सचिन तेंदुलकर को भले ही विराट कोहली में अपना अक्स नजर आता हो, लेकिन इस युवा बल्लेबाज का कहना है कि वह इस चैंपियन बल्लेबाज को पूजता आया है और उनकी उपलब्धियों तक पहुंचना उसके लिये मिशन इम्पासिबल से कम नहीं होगा. कोहली ने सबसे तेजी से १००० और ३००० वनडे रन बनाये हैं और इस साल पांच शतक भी जड़े हैं.

इससे कइयों ने उनकी तुलना तेंदुलकर से करनी शुरू कर दी है. तेंदुलकर का खुद कहना है कि कोहली उनका सौ अंतरराष्ट्रीय शतक का रिकार्ड तोड़ सकता है. कोहली ने हालांकि कहा कि उनके और उनके आदर्श (तेंदुलकर) के बीच कोई तुलना ही नहीं. उन्होंने कहा कि लोग जब मेरी तुलना सचिन से करते हैं तो मैं काफी गौरवान्वित महसूस करता हूं लेकिन मेरा फोकस अपने प्रदर्शन पर है, इस तुलना पर नहीं. मैं उनकी पूजा करता आया हूं लिहाजा मुझे यह तुलना बेमानी नजर आती है. उन्होंने एक चैनल पर कहा कि कोई भी क्रिकेटर सौ शतक नहीं बना सका है. यह बहुत बड़ी उपलब्धि है.

मैं इस बारे में नहीं सोचता क्योंकि इससे दबाव बनता है. मेरा फोकस अपने प्रदर्शन पर है.
उपकप्तान के तौर पर अपने चयन के बारे में कोहली ने कहा कि यह उनके लिये सुखद आश्चर्य था. उन्होंने इन अटकलों को खारिज किया कि बतौर कप्तान वह महेंद्र सिंह धोनी की जगह लेने वाला है. उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा नहीं लगता. धोनी ने बतौर कप्तान टीम इंडिया के लिये बहुत कुछ किया है. मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है. कोहली ने सौरव गांगुली के इस बयान से भी असहमति जताई कि युवराज सिंह को बीमारी के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उतारने का चयनकर्ताओं का फैसला जज्बाती था.

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि यह जज्बाती फैसला है. यदि वह कह रहे हैं कि वह फिट और आत्मविश्वास से ओतप्रोत है तो उन्हें मौका दिया जाना चाहिये. उनके लिये यह बेहतरीन वापसी होगी. उन्होंने कहा कि वापसी के बाद पहले मैच को लेकर सभी नर्वस रहते हैं. मैदान पर अपने तेवरों के बारे में कोहली ने कहा कि यह उनका स्वभाव है. उन्होंने कहा कि बचपन से ही यह मेरा स्वभाव है. मुझे आउट होना कभी पसंद नहीं था, चाहे शून्य पर आउट हो या शतक बनाकर. मुजे बहुत गुस्सा आता है लेकिन मैंने उस पर काबू पाने की कोशिश की है. मैंने बचपन में कई बल्ले तोड़े हैं. कोहली ने स्वीकार किया कि आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के साथ खेलते हुए उनका ध्यान भटका था. उन्होंने कहा कि मेरा ध्यान भटका था. हम अंडर-१९ विश्व कप जीतकर आये थे और विदेशी सितारों के साथ खेल रहे थे. मैं इस तवज्जो को सही तरीके से हैंडल नहीं कर सका.

Related Posts: