मुंबई.  शेयर बाजारों में सुस्ती ही रही। दो फैक्टरों ने बाजारों की तेजी में स्पीड ब्रेकर का काम किया एक तो रुपए की कमजोरी और दूसरा अंतरराष्ट्रीय बाजारों से मिले कमजोरी के संकेत। नतीजा यह कि सेंसेक्स 71 अंक गिरकर 17657 पर और निफ्टी 17 अंक गिरकर 5363 पर बंद हुए।

वैसे बाजार हल्की मजबूती के साथ खुले। एक समय निफ्टी 5400 के करीब पहुंचता दिखा। लेकिन, डॉलर के मुकाबले रुपए के 56 के स्तर पर पहुंचने के बाद बाजार पस्त हो गया। मेटल और एफएमसीजी शेयरों में गिरावट ने बाजार पर दबाव बनाया। हालांकि, ऑटो शेयरों में मजबूती दिखी। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में हल्की खरीदारी नजर आई लेकिन दिग्गज शेयरों से निवेशकों ने दूर ही रहना पसंद किया। दोपहर को बाजार में फिर थोड़ी खरीदारी लौटती नजर आई थी और सेंसेक्स-निफ्टी निचले स्तरों से संभले थे। लेकिन, यूरोपीय बाजारों के सुस्ती पर खुलने से घरेलू बाजारों में फिर से निराशा बढ़ी। ऑयल एंड गैस और कैपिटल गुड्स शेयरों में खरीदारी बढऩे से बाजार निचले स्तरों से संभलते दिखे। हालांकि, कारोबार के आखिरी घंटे में निवेशकों का भरोसा टूटता दिखा और बाजार करीब 0.5 फीसदी तक गिरे।

Related Posts: