मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुआ गठन

भोपाल, 13 जून, नभासं. मध्यप्रदेश में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में समूह नल-जल पेयजल प्रदाय योजनाओं एवं मल-जल निकास व उपचार के क्रियान्वयन, संचालन, संधारण एवं समन्वय के लिये मध्यप्रदेश जल निगम का गठन किया गया है.मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में निगम के संचालक मण्डल का भी गठन किया गया है.मध्यप्रदेश जल निगम के लिये नल-जल योजनाओं के क्रियान्वयन के लिये नवीन बजट शीर्ष खोला जायेगा.

निगम मेमोरेण्डम ऑफ एसोसिएशन एवं आर्टिकल ऑफ एसोसिएशन के अनुसार कार्य संपादित करेगा.प्रारंभिक स्तर पर प्रत्येक विभाग के परिक्षेत्र स्तर पर एक परियोजना क्रियान्वयन इकाई स्थापित की जायेगी.यह इकाई एक समय में 200 करोड़ रुपये तक की योजनाओं का क्रियान्वयन करने में सक्षम होगी. आवश्यकता अनुसार अतिरिक्त परियोजना इकाइयों का भी गठन किया जा सकेगा। ग्राम-स्तर पर योजनाओं के क्रियान्वयन एवं संचालन-संधारण में सुनिश्चित करने के लिये ग्रामीणों की सहभागिता अशासकीय संस्था का सहयोग लिया जायेगा.लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा प्रस्तावित, क्रियान्वित समूह नल-जल योजना ग्राम-पंचायत एवं नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की सहमति से निगम को हस्तांतरित की जा सकेगी.निगम के कार्यकलापों के संचालन के लिये निगम निधि की स्थापना की गई है.

वर्ष 2012-13 में मध्यप्रदेश शासन द्वारा 25 करोड़ की राशि निगम को निधि के रूप में दी गई है.भविष्य में निधि की राशि राज्य शासन, भारत शासन, शासन के निकाय व अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं आदि से प्राप्त की जा सकेगी. मध्यप्रदेश जल निगम में भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी को प्रबंध संचालक के पद पर नियुक्त किया जायेगा.निगम में प्रशासनिक कार्य के लिये लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं अन्य शासकीय विभाग एवं शासकीय निकायों से अधिकारियों को प्रतिनियुक्ति पर लिया जायेगा.निगम में संविदा के आधार पर नियुक्तियाँ भी की जा सकेंगी.

संचालक मण्डल का गठन

निगम में नीतिगत निर्णय के लिये मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में संचालक मण्डल का गठन किया गया है.लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री, नगरीय प्रशासन विकास मंत्री, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं मुख्य सचिव संचालक मण्डल में उपाध्यक्ष मनोनीत किये गये हैं. संचालक मण्डल में संचालक के रूप में अन्य सदस्यों में प्रमुख सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास, वित्त, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, नगरीय प्रशासन एवं विकास, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, प्रमुख अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं अपर सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी को भी शामिल किया गया है.

Related Posts: