भोपाल, 4 जुलाई. मानव संसाधन विकास केंद्र, बीएचईएल भोपाल द्वारा डीवीसी के अधिकारियों के लिये आयोजित छह दिवसीय स्विचगियर ट्रांसफार्मर एवं मोटर मेन्टेनेंस विषय पर ग्राहक प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारंभ देवेंद्र रैना महाप्रबंधक (पीएमजी एंड सीएमजी) तथा सतेंद्र शर्मा एसई, डीवीसी द्वारा दीप प्रज्जवलन से हुआ.

इस कार्यक्रम के आरंभ में पी.के. सिन्हा अपर महाप्रबंधक (मा.सं.) ने अतिथ्यि एवं प्रतिभागियों का स्वागत किया. छह दिवसीय कार्यक्रम की जानकारी देते हुये सिन्हा ने बताया कि यह कार्यक्रम विशेष रूप से प्रतिभगियों की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया है. कार्यक्रम में पधारे मुख्य अतिथि रैना ने बीएचईएल एवं डीवीसी के संबंधों पर प्रकाश डाला एवं अपने अनुभव बांटे. डीवीसी के अधिकारियों को ट्रांसफार्मर, स्विचगियर, मोटर्स के मेन्टेनेंस एवं ऑपरेशन संबंधित जानकारी इस कार्यक्रम में दी गई. कार्यक्रम का संचालन परितोष कुमार दलेड़ अभियंता (मा.सं.)ने किया.

जूडा ने सैनिक को पीटा

भोपाल. राजधानी का जूडा बेलगाम हो गया है. कभी मरीजों पर हमले तो कभी अस्पताल के कर्मचारियों के साथ खुली गुंडागर्दी इनका पेशा बनता जा रहा है. मंगलवार को जूडा ने एक बार फिर अपनी गुंडागर्दी का परिचय देते हुए एक रिटायर्ड सैनिक को पीट दिया. सैनिक की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने जूडा का सिर्फ परिचय पूछ लिया. जूडा को यह नागवार गुजरा, और लाठी-डंडों से सैनिक को अधमरा कर दिया. घायल अवस्था में सैनिक को इलाज के लिए अस्पताल ले जाना पड़ा.

वहीं, गांधी मेडिकल कालेज प्रबंधन इस मामले में कुछ बोलने से बचता रहा. देर रात सैनिक के परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस से की. पुलिस ने अज्ञात जूनियर डाक्टरों के खिलाफ मारपीट का प्रकरण दर्ज कर आरोपी डाक्टरों की खोजबीन शुरू कर दी है. पुलिस से मिली जानकारी के रिटायर्ड सैनिक राजभान पयासी के साथ मारपीट की है.  गौरतलब है कि गत सप्ताह पहले ही जूनियर डाक्टरों के एक गुट ने मरीजों के परिजनों की हमीदिया अस्पताल में पीटाई की थी. इस मामले में भी पुलिस ने अज्ञात डाक्टरों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. लेकिन आज तक एक भी डाक्टर के खिलाफ कार्यवाही नहीं हो सकी.

Related Posts: