• अमन चैन के लिए मांगी दुआ

भोपाल, 7 नवम्बर. राजधानी के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पहले ईदगाह और शहर की अन्य मस्जिदों में नमाज अदा की इसके बाद एक दूसरे के गले मिल कर मुबारकबाद दी.

यह त्योहार मुख्यत: त्याग और बलिदान का माना जाता है. इसे बड़े उमंग और उल्लास के साथ मनाया गया. इस त्योहार के उपलक्ष्य में बकरे की कुर्बानी कर एक दुसरे के घर हिस्सा बांटने से खुश प्रसन्न होते है ऐसी परम्परा चली आ रही है. ईदुज्जुहा त्योहार पर लोगों द्वारा अल्लाह से शांती एवं भाई चारे की फरियाद की जाती है. वहीं शहर काजी जनाब फाजिल कासमी  ने नमाज अदा करते हुए लोगों से कहा की सभी को ईदुज्जुहा पर्व मूल में छिपे कुर्बानी के पैगाम को अपने जीवन में पालन करना चाहिए. पुराने शहर में कुछ आवागमन मार्ग परिवर्तित रहा. साढ़े चार घंटे तक पुराने शहर के कुछ मार्गो पर आने जाने वाले लोगों को वैकल्पिक रास्तों से निकलाना पड़ा. सुबह ईद की मुबारकबाद देने फिल्म अभिनेता रजामुराद , नगर निगम अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, जिला कांगे्रस अध्यक्ष पीसी शर्मा ईदगाह पहुंचे. उन्होने लागों को  अपनी शुभ कामनाएं भी दी.

जेल में बंदियों ने मनाया ईदुज्जुहा-केंद्रीय जेल भोपाल में ईदुज्जुहा के अवसर पर सहिष्णुता एवं भाई चारे का उदाहरण देखने को मिला. जहां सभी धर्म के बंदियों के परिजनों ने जेल पर परिरूद्घ अपने बंदी परिजनों को ईदुज्जुहा की मुबारकबाद दी गई. मसाजिद कमेटी की ओर से पधारे जनाब अली कदर द्वारा मुस्लिम धर्मावलम्बी बंदियों को जेल प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में सामूहिक नमाज सम्पन्न कराई गई. सभी धर्म के बंदियों ने आपस में गले मिल कर एक दूसरे को मुबारकबाद दी. जेल महानिदेशक रमेशचंद्र अरोड़ा, आई.पी.एस ने केन्द्रीय जेल में मुस्लिम बंदियों को ईदुज्जुहा की बधाई दी. एवं उनके परिजनों से हालचाल पूंछे तथा जेल प्रशासन के द्वारा की गई विशेष व्यवस्था की सराहना की. ईदुज्जुहा के शुभ अवसर पर केंद्रीय जेल भोपाल में परिरूद्घ बंदियों से उनके महिला परिजनों से मुलाकात हेतु विशेष व्यवस्था की गई थी. मुलाकात की व्यवस्था हेतु जेल परिसर के बाहर मुलाकातियों हेतु टेन्ट माईक जल आदि की सम्पूर्ण व्यवस्था के साथ बंदियों के नाम लिखने हेतु 05 विशेष काउन्टर खोले गये. जेल पर परिरूद्घ 1180 पुरुष बंदियों से लगभग 3570 महिला परिजनों ने मुलाकात अपने परिजन बंदियों को ईद की मुबारकबाद दी. जेल पर परिरूद्घ 86 महिला बंदियों से 67 पुरुष परिजनों द्वारा मुलाकात की गई. मुलाकात की यह विशेष व्यवस्था सुबह 8 बजे से शायं 5 बजे तक रखी गई थी. इस अवसर पर कड़ी सुरक्षा एवं सघन तलासी की गई. जिसमें 35 जेल अधिकारियों एवं 60 जेल प्रहरीगण तथा 100 सी.ओ. बंदियों को ड्यूटी पर तैनात किया गया.

हजरत इस्माइल की कुर्बानी कयामत तक रहेगी यादगार

ईदुल अगाह का त्यौहार बड़ी अकीदत जोश खरोश के साथ मनाया गया सबसे पहले ईद की नमाज ईदगाह में शहर काजी ने अदा करायी. नमाज के बाद हुई कुर्बानियों का सिलसिला शुरू हो गया औलमाओ के अनुसार भोपाल में दस लाख बकरे बिके इनकी कथनी के हिसाब से ईदुल अजहा के मौके पर ऊंट, बकरा, दुम्बा, भेड़ा, पड़ा मिलाकर लगभग सात लाख जानवरों की कुर्बानी हुई वैसे तो ईदुल अजहा का त्यौहार तीन दिन तक कुबाईनियों का सिलसिला जारी रहता है. मध्यप्रदेश मुस्लिम त्यौहार कमेटी के अध्यक्ष हिफजुर रहमान ने बताया कि भोपाल में अभी तक तीन ऊंट सोमवार को, दो ऊंट आज सुबह दस बजे होगी वैसे तो ईदुल अजहा पर लगभग दस लाख जानवरों की कुर्बानी का एहतेमाम है. रहमान ने कहा कि ऊंटों की कुबाईनी करते हुए अकदितमंदो ने दूसरे मजाहिबों का बहुत एहतराम रखा इसकी विशेषता यह थी कि आसपास के लोगों को यह पता नहीं चला के क्या हो रहा है.

Related Posts: