भोपाल, 15 जून. ई.ओ.डब्ल्यू. ने प्राप्त शिकायत के सत्यापन पर पाया कि नगर पंचायत नौरोजाबाद जिला उमरिया के तत्कालीन प्रभारी मुख्य नगर पालिका अधिकारी एवं पूर्व अध्यक्ष द्वारा अपने पदों का दुरुपयोग कर भारत इंजीनियरिंग कार्पोरेशन भोपाल के साथ षडय़ंत्र रचाकर कचरा गाडिय़ों का क्रय अत्यधिक ऊंची दरों पर किया गया.

पदाधिकारियों ने विभिन्न वार्डो में सीमेंट कांक्रीट रोड का निर्माण कार्य वर्क मैन्युअल के अनुसार नहीं कराते हुए न तो निर्माण हेतु प्रयुक्त सामग्री का सेम्पल लिया और न ही सामग्री की गुणवत्ता की जाँच कराई, जिसके कारण गुणवत्ता विहीन कार्य होने के कारण शासन को लाखों रुपये की क्षति हुई. इसी क्रम में नगर पंचायत नौरोजाबाद के तत्कालीन प्रभारी मुख्य नगर पालिका अधिकारी एवं अध्यक्ष द्वारा भारी मात्रा में फिनाइल ब्लीचिंग पाउंडर, गार्बेज कंटेनर, हाईड्रोलिक डम्फर प्लेसर एवं पावर सेवर लाईट का क्रय प्राईवेट फर्मो के साथ आपराधिक षडय़ंत्र रचकर लगभग दुगने दाम पर क्रय कियेगये. जबकि यह सामग्री लघु उद्योग निगम के माध्यम से लगभग आधी दर पर क्रय की जा सकती थी. इस प्रकार ईओडब्ल्यू की जाँच में आरोपियों द्वारा शासन को 40,00,000/- रुपयों से अधिक की आर्थिक क्षति पहुँचाकर धारा 409, 420, 120 बी भादंवि एवं 13(1) डी 13 (2) भ्रनिअ 1988 का अपराध कारित किया जाना प्रथम दृष्टïया प्रमाणित पाये जाने पर उनके विरुद्घ अपराध पंजीबद्घ कर विवेचना में लिया गया है.

Related Posts: