भोपाल 20 नवंबर. वित्त मंत्री श्री राघवजी ने कहा है कि प्रदेश का बजट अब बढ़कर 70 हजार करोड़ रुपए हो गया है. इसके अलावा, अन्य कार्यों पर लगभग 27 हजार रुपए खर्च किए जा रहे हैं.

इस प्रकार चालू वित्तीय वर्ष में लगभग 97 हजार करोड़ रुपए व्यय किये जा रहे हैं. श्री राघवजी आज रतलाम जिले के भ्रमण के दौरान विभिन्न स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों को संबोधित कर रहे थे. प्रदेश सरकार आम आदमियों एवं गरीबो के कल्याण के लिए व्यापक कार्य करते हुए तेजी से विकास कर रही है. प्रदेश में पाला पीडि़तों को लगभग 1400 करोड़ रूपये वितरित किए गए है वहीं किसानों को समर्थन मूल्य पर खरीदी में लगभग 500 करोड़ रूपये का बोनस बाटा गया है. उन्होने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में लगभग 4000 मेगावाट विद्युत उत्पादन हो रहा है जबकि 5000 मेगा वाट की जरूरत है. इसके लिए भी कार्य योजना बनाई जाकर क्रियान्वयन किया जा रहा है, जिसपर लगभग 5500 करोड़ रूपये व्यय होंगे. उन्होने कहा कि प्रदेश में विद्युत प्रदाय के लिए दो तरह के फि डर लगाए जा रहे है. एक फि डर से ग्रामों में घरेलू उपयोग के लिए 24 घंटे विद्युत प्रदाय होगी और दूसरे फि डर से किसानों के खेतो के लिए 8 से 10 घंटे विद्युत प्रदाय की जाएगी. मध्यप्रदेश, विकास दर में वृद्धि के साथ ही अब प्रगति के नए पथ पर अग्रसर है.

यहाँ विकास योजनाओं का क्रियान्वयन तेजी से हो रहा है. मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह के कुशल नेतृत्व में प्रदेश में अनेक विकास योजनाए चलाई जा रही है. वित्त, योजनाए आर्थिक और सांख्यिकी एवं 20 सूत्रीय क्रियान्वयन समिति मंत्री श्री राघवजी ने गत दिवस रतलाम जिले के ग्राम बिरमावल एवं सिनोद में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही. श्री राघवजी ने रतलाम तहसील क्षेत्र में 169.65 लाख रूपये लागत से निर्माणाधीन लघु सिंचाई परियोजना कुण्डाल जलाशय योजना का निरीक्षण तथा ग्राम सिनोद में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा निर्मित पेयजल टंकी तथा माध्यमिक विद्यालय भवन का लोकार्पण भी किया. इस दौरान पूर्व मंत्री श्री हिम्मत कोठारी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के कुशल नेतृत्व में वित्तमंत्री द्वारा विकास के लिए योजनाबद्ध तरीके से धन मुहैया कराया जा रहा है. प्रदेश की वित्तीय स्थिति को सुण्ढ़ बनाया गया है. इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अनिता राजमल जैन ने अपने संबोधन में प्रदेश में संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया. पूर्व मंत्री श्री धूलजी चौधरी ने कहा कि जिले में निर्मित होने वाली लघु जलाशय परियोजनाओं से किसान समृद्धशाली होंगे. विभिन्न ग्रामों में आयोजित समारोहों के दौरान मंत्री श्री राघवजी ने कन्याओं का पूजन कर बेटी बचाने का संदेश दिया. साथ ही उन्होने ग्राम बिरमावल की गोशाला का अवलोकन भी किया. इस अवसर पर बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक एवं जनप्रतिनिधिगण मौजूद थे.

Related Posts: