नई दिल्ली, 2० मार्च, नससे. भाजपा ने आज आरोप लगाया कि रेल मालभाड़ा बढ़ाये जाने से दैनिक उपयोग की वस्तुयें और सेवायें महंगी हो गई जिससे आम आदमी बुरी तरह प्रभावित होगा.

लोकसभा में रेल बजट पर चर्चा शुरू करते हुये भाजपा की सुमित्रा महाजन ने कहा कि संसद में रेल बजट होने से कुछ दिन पहले जिस तरह से मालभाडा में वृद्धि की गई. वह पुरानी संसदीय परंपराओं के विपरीत है. उन्होंने कहा कि इस वृद्धि से अनाज से लेकर कोयला जैसी वस्तुओं की ढुलाई बीस से चालीस प्रतिशत महंगी हो जायेगी जिस कारण दैनिक उपभोग की वस्तुयें और सेवायें और महंगी होगी. इसका सबसे बुरा असर आम आदमी पर पडेगा जो पहले से ही महंगाई को लेकर त्रस्त है. रेल बजट पर चर्चा शुरू होने के वक्त नये रेल मंत्री मुकुल राय के सदन में नहीं होने को लेकर विपक्ष के सदस्यों ने सदन में हंगामा किया. लेकिन श्री राय के आ जाने के बाद हंगामा शांत हो गया जब श्री राय ने बताया कि वह राज्यसभा गये हुये थे जहां प्रधानमंत्री ने उनका नये रेल मंत्री के रूप में परिचय कराया.

श्रीमती महाजन ने इस बजट को पेश करनेवाले पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी द्वारा रेल के आधुनिकीकरण और सुरक्षा के लिये अलग से प्राधिकरण बनाने का प्रस्ताव किये जाने की सराहना की. उन्होंने कहा कि रेलवे के सुधार और आधुनिकीकरण के लिये पांच लाख 60 हजार करोड रूपये की जरूरत होगी. उन्होंने कटाक्ष किया कि श्री त्रिवेदी ने बजट पेश करते समय कहा था कि रेल की हालत सुधार करने के लिये वह कोई भी कुर्बानी देने को तैयार है लेकिन वह खुद ही रेल किराया बढाने के कारण कुर्बान कर दिये गये. श्रीमती महाजन ने लंबित परियोजनाओं के अपेक्षित धन नही मुहैया कराये जाने के लिये रेल मंत्री की आलोचना की. उन्होंने कहा कि रेलवे सार्वजनिक और निजी भागीदारी के तहत परियोजनायें शुरू कर रही है लेकिन इसमे यह ध्यान रखा जाना चाहिये कि निजी क्षेत्र सिर्फ फायदे लिये ही नहीं रहे बल्कि रेल के विकास में बराबर का भागीदार बने.

महाजन ने कहा कि रेलवे में प्रोजेक्ट बन जाता है लेकिन उसके लिए आवंटन समय पर नहीं किया जाता है. उन्होंने मध्यप्रदेश में रेलवे द्वारा किए जा रहे कार्यो में हो रहे विलंब पर कहा कि तय समय सीमा में पैसा आवंटन नहीं किए जाने के कारण प्रोजेक्ट का लागत बढ़ता जा रहा है. उन्होंने रेलमंत्रालय पर आरोप लगाया कि वह सरल मार्ग की अपेक्षाकृत घुमावदार मार्ग पर ट्रेन चलाना पसंद कर रही है.

Related Posts: