• वीडियो कांफ्रेंसिंग में हुआ संवाद

भोपाल,31 अक्टूबर.प्रदेश में किसानों को पर्याप्त उर्वरक उपलब्ध करवाने और उसकी वितरण व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए आज राज्य स्तरीय समीक्षा की गयी . कृषि उत्पादन आयुक्त आर. परशुराम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी कमिश्नर्स और कलेक्टर्स से संभागवार और जिलावार जानकारी प्राप्त की.

कृषि उत्पादन आयुक्त ने उर्वरकों की कालाबाजारी रोकने और सीमावर्ती जिलों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए . वीडियो कान्फ्रेंसिंग में जानकारी दी गयी कि डीएपी एवं काम्प्लेक्स फर्टिलायजर्स की देशव्यापी कमी हैं . इसके बावजूद राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों की जरुरत के मुताबिक उर्वरक प्राप्त करने के लिए केंद्र से निरंतर संवाद स्थापित करते हुए आवश्यक व्यवस्था की गयी है . मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और कृषि मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया ने उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय, भारत सरकार से पर्याप्त मात्रा में उर्वरक उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है.

कृषि उत्पादन आयुक्त ने कलेक्टर्स और कमिश्नर्स से अपेक्षा की कि वे रैक पाइंट पर प्राप्त उर्वरक का समस्त जिलों में डिस्ट्रीब्यूशन प्लान के अनुसार वितरण सुनिश्चित करें. यूरिया वितरकों के साथ जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर बैठकें आयोजित कर चर्चा की जाए. इसके साथ ही मार्कफेड को उर्वरकों के भुगतान का कार्य नियमित रूप से किया जाए. परशुराम ने कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा किसानों को डीएपी एवं एनपीके की कमी को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था के लिए समझाइश देने की भी जरुरत बतायी. वीडियो कान्फ्रेंसिंग में संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे .

Related Posts: