भोपाल, 22 मई, नभासं. किसान संघ के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश गुर्जर के नेतृत्व में प्रदेश सरकार पर दबाव बनाने में सफल होते नहीं दिखाई पड़े. क्योंकि अंबेडकर पार्क में एकत्रित हुये किसानों की संख्या सवा सौ से अधिक नहीं थी, बल्कि इससे अधिक तादाद में पुलिस बल के जवान उक्त स्थल के आसपास नजर आये.

यहां सुरेश गुर्जर ने बताया कि जेल में बंद किसानों को रिहा किया जाये, गेहूं खरीदी के दौरान होने वाली अनियमितता पर अंकुश लगे, बारदाना की कमी दूर की जाये और बिजली के बिल वर्ष में दो बार देने की मांगें हैं, जिनकां प्रदेश सरकार शीघ्र समाधान करे. इससे पूर्व किसान संघ के लोग करीब 12 बजे प्रदेश कार्यालय से नारेबाजी करते हुये धरना स्थल अंबेडकर पार्क पहुंचे. यहां प्रदर्शनकारियों को पार्क के अंदर प्रवेश करने की अनुमति थी लेकिन धरना स्थल से बाहर जाने नहीं दिया गया. इधर प्रशासन ने किसानों के पूर्व आंदोलन को दृष्टिïगत रखते हुये काफी अधिक जवानों को धरना स्थल के आसपास तैनात कर दिया था. साथ ही एडीएम वसंत कुर्रे और एसपी अभय ङ्क्षसह धरना स्थल पर व्यवस्था पर नजर रखे हुये थे. कुर्रे ने बताया कि भारतीय किसान संघ को को धरने की अनुमति दी गई है. इस समय सीमा को बढ़ाने की बात पर चर्चा की जा सकती है. इधर किसान संघ के अध्यक्ष पद से शिवकुमार शर्मा का निष्कासन के उपरांत पहला विरोध धरना प्रदर्शन था जो कि पूर्व की अपेक्षा आक्रोश कम दिखाई पड़ा.

Related Posts: