हत्या के दो आरोपी गिरफ्तार, अन्य फरार, गांव में मातम, भारी पुलिस बल तैनात

बैरागढ़ 17 अप्रैल (संवाददाता) थाना खजूरी सडक रविवार को एक किसान को आरोपियो द्वारा टाटा सुमो से बांधकर तीन किलोमीटर घसीटा था जहां एक+ निजी अस्पताल में उपचार के दौरान रविवार के मध्य रात्रि को उसकी मौत हो गई थी जहां बजरंगियो ने आरोपियों की गिरफ्तारी व मुआवजें को लेकर चिरायू अस्पताल के सामने रविवार रात्रि 11 बजे चक्काजाम किया था.

थाना खजूरी से प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक ग्राम पाटनिया का मुकेश मेवाडा 32 वर्ष अपने चचरे भाई तूमडा गया हुआ था. लौटते समय गांव के पास ग्राम तूमडा के आरोपी अफजल अपने साथी जलील, बबलू, रईस व अन्य लोगो ने उस पर हथियारो से हमला कर दिया था मुकेश मेवारा के साथ उसका चचेरा भाई भाग निकलता था जहां आरोपियो ने धारधार हथियारो से हमला किया उसके भाई आरोपियो ने हरे रंग की टाटा सुमो से बांधकर करीब तीन किलोमीटर घसीटा था जहां मुकेंश के परिजनो ने उसे चिरायू अस्पताल में भर्ती किया जहां रविवार की रात्रि को दस तीन बजे मौत हो गई थी. मौत के बाद बजरंगियो ने चिरायू अस्पताल के सामने एक घंटा चक्काजाम किया था इसके बाद पुलिस की समझाईश के बाद चक्काजाम खत्म हुआ. सोमवार को जैसे ही हमीदिया अस्पताल से पोस्टमार्डम के बाद उसके देह संस्कार के लिए ग्राम पाटनिया ले जाया गया इसी दौरान समाज व गांव के लोग भडक उठे पुलिस की समझाईश के बाद मामला शांत हुआ. ग्रामीणो का कहना था पुलिस आरोपियो को बचा रही है.

सोमवार को चक्काजाम

-गैहलोत समाज के भोपाल जिले के अध्यक्ष वीरभान सिंह मेवाडा के नेतृत्व में समाज के सैकडो लोगो ने खजूरी बायपास पर आरोपियो की गिरफ्तारी व मुआवजे को लेकर चक्काजाम किया जहां कलेक्टर निंकुज श्रीवास्तव के आश्वासन के बाद चक्काजाम खत्म हुआ. कलेक्टर ने समाज के लोगो को आश्वस्त किया उसके उचित मुआवजे की राशि अधिक से अधिक मिले इसके लिए प्रस्ताव राज्य सरकार को जाएंगा. कलेक्टर ने मुआवजा राशि बीस हजार तत्काल उपलब्ध कराई तब जाकर समाज के लोग शांत हुए. उधर कलेक्टर ने समाज के लोगो को यह भी बताया कि आरोपियो को बक्शा नहीं जाएगा उनके ऊपर राष्ट्रीय कानून के तहत कार्यवाही की जाएगी.

मृतक की गाडी से जैवर भी गायब

गांव वालो ने बताया कि मृतक के भाई की 24 अप्रैल को शादी होने वाली थी इसलिए तुमडा बाजार गया हुआ था यह वारदात लौटते समय हुई. घटना के बाद उसकी गाडी से नगद राशि व जैवरात गायब थे.

शव को लेकर मुकेश के परिजन भडके

जब मुकेश का शव लेकर ग्राम तूमडा पहुंचे तो उसके परिजन भडक गए उके परिजनो की मांग थी पुलिस आरोपियो को बचा रही है कुछ कार्यवाही नहीं कर रही है. मात्र 48 घंटो के बाद पुलिस दो आरोपियो को गिरफतार कर सकी है.

दो की गिरफ्तारी अन्य फरार

मुकेश के हथियारो में प्रमुख रुप से जमील व बबलू की गिरफ्तारी पुलिस ने रविवार को रात्रि में कर ली थी इसके बाद अन्य आरोपी रईस, अफजल, शोकिन अभी भी फरार है.

गांव में भारी पुलिस बल तैनात

घटना के बाद खजूरी पुलिस सहित अन्य थानो की पुलिस भी ग्राम तूमडा व पाटनिया में तैनात कर दी गई है जहा रविवार को एसएसपी योगेश चौधरी व पुलिस अधीक्षक अभय सिंह सहित पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियो ने गांव को दौरा किया था शांत बनाने की अपील की थी.

Related Posts: