• अब पाकिस्तान में

वाशिंगटन, 28 अप्रैल. अलकायदा का नया प्रमुख अयमान अल जवाहिरी और अन्य आतंकी अमेरिकी ड्रोन से बचने के लिए पाकिस्तान में मारे-मारे फिर रहे हैं.

अमेरिकी हमले में आतंकी सरगना ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के करीब एक साल बाद अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि बचे-खुचे आतंकी जिंदा हैं, और वे ज्यादातर समय बचे रहने के लिए छिपते फिर रहे हैं. अब उनके पास इतनी क्षमता नहीं कि 11 सितंबर जैसे एक और हमले को अंजाम दे सकें. अमेरिकी अधिकारियों ने चेतावनी दी कि अल कायदा से जुड़े संगठन और खासकर यमन में संगठन खतरा बना हुआ है. उन्होंने कहा कि आतंकी समूह ने अमेरिका के भीतर जटिल हमले करने की क्षमता खो दी है. हालांकि उन्होंने कहा कि अल कायदा अभी भी अन्य देशों में स्थित पश्चिमी ठिकानों को निशाना बनाने में सक्षम है, और वह हिंसा की योजना बनाने के लिए सेना खड़ी करने व विशेषज्ञता हासिल करने की कोशिश कर रहा है. सीबीएस ने वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों को संवाददाताओं को की गई टिप्पणी के हवाले से बताया कि यह कल्पना करना मुश्किल है कि अल कायदा 9-11 जैसे हमलों को फिर से अंजाम दे सकता है. अमेरिकी रक्षा मंत्री लियोन पेनेटा ने कहा कि जीत घोषित करना अभी जल्दबाजी होगी.  उन्होंने दावा किया कि बिन लादेन के खिलाफ अभियान के बाद अमेरिका सुरक्षित है. अमेरिका के आतंकरोधी अधिकारियों ने कहा कि भारी दबाव में अल कायदा का नया सरगना जवाहिरी संगठन के भीतर विभिन्न धड़ों को एकजुट कर मारक हमलों के लिए ताकतवर बना पाने में नाकाम रहा है.

Related Posts: