भोपाल 6 सितंबर, नभासं. मध्यप्रदेश के अनेक क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश होने से कई स्थानों पर फिर से बाढ की स्थिति बन गई हैं. नदी नालों में उफान आने से कुछ जगह सडक मार्ग अवरूद्व हो गये है.मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों में कुछ स्थानों पर भारी से भारी बारिश होने की चेतावनी दी है.

बुरहानपुर में ताप्ती नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 219 मीटर से सात मीटर ऊपर 226 मीटर पर है. इससे तीन पुराने पुल डूब गये है जिससे नेपानगर,अंबाडा एवं हतनूर बादखेडा मार्ग पर यातायात ठप हो गया है तथा ताप्ती की बाढ का पानी निचले इलाकों की कई बस्तियां में घुस गया है. प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. छिंदवाडा जिले में भी कल से हो रही बारिश के कारण पांढुर्णा एवं अमरवाडा कस्बों में 32 मकान ढह गये है तथा मोहखेडा. चौरई तहसील की चार पुलिया क्षतिग्रस्त होने और मोरडोगरी पुल पर वर्धा नदी का पानी आने से राष्ट्रीय राजमार्ग जबलपुर,नागपुर बाघित हो गया है.

छिंदवाडा शहर में चर्च कंपाउण्ड में स्थित 118 वर्ष पुराना एक स्कूल का भवन धराशायी हो गया. छिंदवाडा चौरई मार्ग की निर्माणाधीन तीन पुलिया बाढ में बह गई और सिवनी मार्ग भी ठप हो गया है. होशंगाबाद में तवा बांध के सभी 13 फाटक 15-15 फुट खोल कर 319735 क्यूसेक पानी नर्मदा नदी में छोडा जा रहा है जिससे नदी किनारे बसे गांवों को सतर्क कर दिया गया है.

Related Posts: