विशेषज्ञों ने विभिन्न आयामों से कराया अवगत

भोपाल, 13 नवंबर, नभासं. केन्द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान में आज लोड टैप चेन्जर आईएस व आईईसी मानकों के विषय को लेकर एक दिवसीय ट्यूटोरियल कार्यक्रम शनिवार को सम्पन्न हुआ.

इस कार्यक्रम का उद्घाटन क्रॉम्पटन ग्रीव्ज लिमिटेड मंडीदीप के उप महाप्रंधक मनीष यादव ने दीप प्रज्जवलित कर किया. यादव ने अपने सम्बोधन में ओएलटीसी की मौलिक संकल्पनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला. साथ ही सीएलटीसी का चुनाव करते समय ध्यान रखने वाली विभिन्न आवश्यकताओं की जानकारी मुहैया कराई. उन्होंने ओएलटीसी निर्माताओं से नवीनतम तकनीकी और मैदानी परीक्षण विधियों का उपयोग कर विश्वसनीय ओएलटीसी निर्माण करने पर बल दिया ताकि ओएलटीसी उपभोक्ताओं को उचित सेवा मुहैया कराई जा सके. इस अवसर पर सीपीआरआई इकाई के प्रमुख एवं अपर निदेशक बी.पी. राघवय्या ने अपने संबोधन में विद्युत प्रणाली में ओएलटीसी के महत्वपूर्ण पहलुओं से अवगत कराया. साथ ही कहा कि निर्माता या फिर उपभोक्ता द्वारा ट्रांसफार्मर का चुनाव बहुत ध्यान से करते हैं. किन्तु उसके साथ उपयोग होने वाले ओएलटीसी के निर्धारण पर कम ध्यान देते हैं. इसका ओएलटीसी का उचित निर्धारण नहीं करने की वजह से 40 प्रतिशत ट्रांसफार्मर फेल होते हैं. इसलिये राघवय्या ने निर्माताओं एवं उपभोक्ताओं से ओएलटीसी चुनाव के समय काफी ध्यान और सावधानियां बरतने का आग्रह किया ताकि उचित वोल्टेज पर विद्युत प्रणाली की विश्वसनीयता निर्धारित की जा सके. यह ट्ïयूटोरियल आयोजन करने के पीछे मुख्य उद्देश्य सीपीआरआई भोपाल में ओएलटीसी परीक्षण की नवीनतम उपलब्ध सुविधाओं से निर्माताओं एवं उपभोक्ताओं को अवगत कराना है.

भारत के विभिन्न प्रांतों में स्थित ऑन लोड टैप चेन्जर निर्माताओं के प्रतिनिधियों ने कार्यक्रम में सहभागिता की. ऑन लोड टैप चेन्जर की अवधारणाओं, डिजाइन और परीक्षण विषय पर विभिन्न सत्रों में चर्चा की गई. ओएलटीसी तकनीक के नवीनतम रूझानों एवं विकास के पहलुओं पर विशेषज्ञ और निर्माताओं ने अपने विचार प्रकट किये. साथ ही कहा कि ऐसे आयोजन से उपयोगी एवं ज्ञानवर्धक जानकारी निर्माताओं और उपभोक्ताओं को मिलती हैं.

Related Posts: