भोपाल,4 मई,वन मंत्री सरताज सिंह ने  वर्ष 2008-09, वर्ष 2009-10 और वर्ष 2010-11 के उत्कृष्टता पुरस्कारों से पाँच वन कर्मचारियों को पुरस्कृत किया. पुरस्कृत होने वालों में उप वन क्षेत्रपाल परमानंद अहिरवार, वनरक्षक शिवकुमार  श्रीवास्तव ,वनरक्षक शाहिद मोहम्मद खान, वनरक्षक अविनाश त्रिपाठी और वनपाल दिनेश जोशी शामिल हैं.

उत्कृष्टता पुरस्कार 2008-09 में परमानंद अहिरवार उप-वन क्षेत्रपाल ने परिक्षेत्र सहायक, नयापुरा के पद पर कार्यरत रहते हुए अपने क्षेत्र के साथ-साथ रायसेन परिक्षेत्र के अन्य वन क्षेत्रों में भी वन अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. इन्होंने अवैध शिकार के 10 प्रकरण में अपराधियों को मृत वन्य-प्राणी, शिकार में प्रयुक्त शस्त्र एवं वाहन के साथ गिरफ्तार कर अदम्य साहस का परिचय दिया. इसके अतिरिक्त अहिरवार ने अतिक्रमण एवं उत्खनन पर भी प्रभावी अंकुश रखते हुए ट्रेक्टर-ट्रॉली एवं ट्रक को जब्त कर प्रकरण को न्यायालय में प्रस्तुत किया और वाहनों को राजसात कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की.

उत्कृष्टता पुरस्कार 2009-10: शाहिद मोहम्मद खान वन रक्षक वन मण्डल भोपाल ने वर्ष 2009-10 में भोपाल मुख्यालय पर 18वीं अखिल भारतीय वन खेलकूद प्रतियोगिता में दिन-रात कार्य कर आयोजन को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. उनके प्रयासों से विभिन्न प्रदेशों से प्रतियोगिता में सम्मिलित होने आये खिलाड़ी, अधिकारियों,  कर्म चारियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई. प्रतियोगिता की व्यवस्थाओं की प्रशंसा अन्य प्रदेशों से आये खिलाडिय़ों ने मुक्त कंठ से की.

उत्कृष्टता पुरस्कार 2010-11: वन रक्षक अविनाश त्रिपाठी ने वन विहार के रेस्क्यू सेंटर में सर्कस से लाये हुए वृद्ध एवं अति वृद्ध शेरों एवं बाघों की उत्कृष्ट स्तर की देखरेख की. परिणाम स्वरूप ये वन्य-प्राणी अपनी औसत उम्र से अधिक उम्र प्राप्त कर अभी भी स्वस्थ एवं निरोगी जीवन जी रहे हैं. प्रतियोगिता की व्यवस्थाओं की प्रशंसा अन्य प्रदेशों से आये खिलाडिय़ों ने मुक्त कंठ से की.

Related Posts: