• परख में कहा मुख्य सचिव ने

भोपाल,19 अप्रैल, मुख्य सचिव अवनि वैश्य ने आज मासिक वीडियो कान्फ्रेन्सिंग कार्यक्रम परख में प्रदेश के कलेक्टरों, कमिश्नरों से बातचीत की.

मुख्य सचिव ने ग्रीष्म काल में शहरों और ग्रामों में नागरिकों को पर्याप्त पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए सरकारी अमले को सजग रहने को कहा. मुख्य सचिव ने कहा कि पेयजल प्रबंधों में बजट की कमी कोई कारण नहीं बनना चाहिए. इस कार्य के लिए पर्याप्त आवंटन उपलब्ध है. पेयजल परिवहन व्यवस्थाओं को अंजाम देने के लिए भी धनराशि की व्यवस्था है. मुख्य सचिव ने सुचारु बिजली आपूर्ति, गेहूँ उपार्जन कार्य के सुव्यवस्थित संपादन और अवैध उत्खनन गतिविधियाँ रोकने के लिए शासकीय विभागों द्वारा संयुक्त कार्रवाई जैसी प्राथमिकताओं को ध्यान में रखकर फील्ड के वरिष्ठ अधिकारियों को सक्रिय भूमिका निभाने के निर्देश दिए.मुख्य सचिव ने सभी कलेक्टर, कमिश्नर को निर्देश दिए कि गर्मियों के दौरान लोगों को पानी उपलब्ध करवाने के लिए संबंधित अमले को सक्रिय रखा जाए. वैश्य ने देवास में संपूर्ण ग्रीष्म काल में बाधा-रहित पेयजल व्यवस्था बनाए रखने के लिए इंदौर और उज्जैन के कमिश्नर को परस्पर समन्वय से कार्य करने के निर्देश दिए.

बताया गया कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा सभी जिलों में राइजर पाइप व्यवस्था, बिगड़े हेंडपंपों को सुधारने और बंद नल-जल योजनाओं को प्रारंभ करने की कार्रवाई की जा रही है. परख में मुख्य सचिव ने प्रदेश में विद्युत आपूर्ति की समीक्षा की. ऊर्जा सचिव ने बताया कि प्रदेश में फीडर सेपरेशन का कार्य प्रगति पर है जिसकी नियमित समीक्षा की जा रही है. विद्युत आपूर्ति सुचारु है. मुख्य सचिव ने गेहूँ उपार्जन के सुव्यवस्थित संपादन को प्रत्येक कलेक्टर द्वारा सुनिश्चित किए जाने की जरुरत बताई. उन्होंने कहा कि प्रदेश में 20 मई तक ये कार्य चलना है. जो किसान पंजीयन से वंचित रह गए थे उन्हें एक से तीन मई तक पुन: पंजीयन का अवसर मिलेगा. मुख्य सचिव ने गेहूँ भंडारण, टेम्परेरी कैप निर्माण कार्य, बारदाना व्यवस्था, किसानों को राशि के भुगतान आदि की जानकारी प्राप्त की.

मुख्य सचिव ने जिलों में अवैध उत्खनन के मामले सामने आने पर कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि खनिज, पुलिस विभाग और स्थानीय प्रशासन को संयुक्त कार्रवाई करते हुए अवैध उत्खनन को पूरी तरह नियंत्रित करना है. मुख्य सचिव ने परख में जिलों में विद्यार्थियों को गणवेश एवं सायकिल वितरण, अनुसूचित जाति तथा जनजाति कल्याण, कृषि और आयुष विभाग द्वारा जिलों में विभिन्न पदों पर अनुकंपा नियुक्ति के लंबित कार्य की समीक्षा भी की. उन्होंने मौसमी रोगों विशेषकर मलेरिया से बचाव और नियंत्रण के प्रयासों की जानकारी हासिल की. उन्होंने सीधी, सिंगरोली जिलों के कलेक्टरों से औषधियों के वितरण के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की.

वीडियो कान्फ्रेन्सिंग में मुख्य सचिव ने आँगनवाड़ी का भवन का निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण करवाने को कहा. सामाजिक न्याय विभाग द्वारा माता-पिता भरण पोषण अधिनियम 2007 के तहत जिलों में सुलह अधिकारी नियुक्त करने, विकासखंड स्तरीय अंत्योदय मेलों के आयोजन, रेलवे क्रासिंग से होने वाली दुर्घटनाओं पर नियंत्रण एवं ऐसे रेलवे क्रासिंग बंद करने और विभागों द्वारा जनशिकायतों के निवारण के संबंध में कलेक्टरों से चर्चा की. अपर मुख्य सचिव एवं विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी मुख्य सचिव कार्यालय  आर. परशुराम ने कहा कि आगामी माह के परख में जलाभिषेक अभियान सहित राज्य सरकार की अन्य प्राथमिकताओं पर बातचीत की जाएगी. आर. परशुराम ने कहा कि वैश्य के नेतृत्व में गत 27 माह से परख का सुचारु संचालन हुआ और महत्वपूर्ण विषयों पर जिला एवं संभाग स्तर तक सीधी चर्चा से अनेक अहम योजनाओं और शासन के अभियानों को मूर्त रुप देने में सहयोग मिला है.

Related Posts: