इंडियन प्रीमियर लीग 2012, सीजन-5

पुणे, 7 मई. कप्तान सौरव गांगुली के नेतृत्व वाली पुणे वॉरियर्स इंडिया टीम और राहुल द्रविड़ की कप्तानी वाली राजस्थान रॉयल्स इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पांचवें संस्करण के अंतर्गत सुब्रत रॉय सहारा स्टेडियम में मंगलवार को आमने-सामने होंगी.

वॉरियर्स की कोशिश लगातार छठी हार से बचने की होगी वहीं रॉयल्स जीत की लय को बरकरार रख प्ले ऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदें जिंदा रखना चाहेगी. रॉयल्स ने अपने पिछले मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को 43 रनों से पटखनी दी थी जबकि वॉरियर्स को उसके पिछले मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स ने सात रन से हराया था. मौजूदा संस्करण में रॉयल्स ने अब तक 11 मैचों से 10 अंक जुटाए हैं और वह बेहतर नेट रनरेट के आधार पर अंक तालिका में छठे स्थान पर है जबकि वॉरियर्स के 12 मैचों से आठ अंक है और वह तालिका में आठवें स्थान पर है. किंग्स इलेवन के खिलाफ सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (5) को छोड़कर बाकी के चार बल्लेबाजों ने अच्छी पारियां खेली थीं. द्रविड़ 46, शेन वॉटसन और ब्रैड हॉज 36-36, अशोक मेनारिया 34 और जोहान बोथा ने आठ गेंदों पर नाबाद 14 रन बनाए थे. रहाणे मौजूदा संस्करण में अब तक 11 मैचों में 463 रन बना चुके हैं और वह वर्तमान में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में शीर्ष पर हैं.  वॉटसन ने गेंदबाजी में भी दो विकेट झटके थे. मौजूदा संस्करण में पहला मैच खेलने वाले रफ्तार के सौदागर शॉन टेट ने बेहतरीन गेंदबाजी की थी.

टेट ने किंग्स इलेवन के खिलाफ अपने चार ओवर के कोटे में 18 रन पर दो विकेट चटकाए थे.
दूसरी ओर, वॉरियर्स के प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है. इस टीम की कमी इकाई के रूप में न खेलना है. यदि वॉरियर्स को इस मुकाबले को जीतना है तो उसके बल्लेबाजों, गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों को बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा. वॉरियर्स के गेंदबाजों ने नाइटराइडर्स को 150 रन के कुल योग पर रोक दिया था लेकिन उसके बल्लेबाज इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर सके और वॉरियर्स 143 रन ही बना सकी. रॉबिन उथप्पा, माइकल क्लार्क, मनीष पांडेय और हरफनमौला स्टीवन स्मिथ के रूप में वॉरियर्स के पास ऐसे बल्लेबाज हैं जो बड़ी पारी खेलने में सक्षम हैं. गांगुली ने उस मुकाबले में 36 जबकि हरफनमौला एंजेलो मैथ्यूज ने 35 रन बनाए थे. गेंदबाजी में मैथ्यूज, भुवनेश्वर कुमार और मुरली कार्तिक अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं.

प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें प्रबल करने उतरेंगे किंग्स

हैदराबाद, 7 मई, ए. राजस्थान रायल्स के खिलाफ अपना पिछला मैच गंवाने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब की टीम जब आज यहां डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ उसके घरेलू मैदान में उतरेगी तो उसका लक्ष्य अंकतालिका में सबसे निचले पायदान पर मौजूद चार्जर्स को हराकर प्लेआफ में जगह बनाने की उम्मीदों को बरकरार रखना होगा.

पंजाब की टीम 11 में से पांच मैचों में जीत और छह मैचों में हार के साथ अंकतालिका में सातवें स्थान पर है. उसके रायल्स के बराबर कुल 10 अंक हैं. टीम को अभी पांच मैच और खेलने हैं. ऐसे में कप्तान डेविड हसी के किंग्स की पूरी कोशिश रहेगी कि वे अपने शेष मैचों में जीत दर्ज करके प्लेआफ में जगह बना सकें. दूसरी ओर कप्तान कुमार संगकारा के चार्जर्स की स्थिति दयनीय है. टीम ने अब तक खेले 11 मैचों में से मात्र दो मैचों में जीत दर्ज की है जबकि आठ में उसे हार का मुंह देखना पड़ा और एक मैच रद्द हो गया. टीम के मात्र पांच अंक है और वह सबसे निचले नौवें स्थान पर है. किंग्स ने लगातार दो मैचों में हार दर्ज करके टूर्नामेंट में शुरूआत की थी लेकिन फिर उसने मैच लगातार जीते और दो लगातार हारे. इसके बाद टीम ने सातवां मैच जीता मगर आठवें मैच में हार गई लेकिन अगले दोनों मैचों में उसने जीत का सिलसिला फिर शुरू किया जिसे वह रायल्स के खिलाफ बरकरार नहीं रख पाई. टीम का टूर्नामेंट में प्रदर्शन मिला जुला रहा है.

एबी जैसा खिलाड़ी हो तो कुछ भी संभव है

बेंगलूरु, 7 मई. रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु के कप्तान विराट कोहली ने डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ 181 के बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए मिली जीत का श्रेय मध्यक्रम के बल्लेबाज एबी डिविलियर्स को देते हुए कहा कि यदि डिविलियर्स जैसा खिलाड़ी टीम में हो तो बड़े से बड़ा लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. 

विराट ने कहा कि हम यह मैच हर हाल में जीतना था. चार्जर्स ने मध्य ओवरों अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन एबी जैसा खिलाड़ी हो तो कुछ भी संभव है. मैंने मैच में इतनी अच्छी फिनिशिंग बहुत कम देखी हैं. उम्मीद है कि हम इस लय को बरकरार रख पाएंगे और प्लेऑफ में जगह बनाएंगे. उल्लेखनीय है कि चैलेंजर्स ने डेक्कन चार्जर्स हैदराबाद को सात गेंद शेष रहते पांच विकेट से हराया था. डेक्कन ने दो विकेट पर 181 रन का मजबूत स्कोर बना लिया था. लेकिन बेंगलूरु ने 18.5 ओवर में पांच विकेट पर 185 रन बनाकर मैच जीत लिया.

मैन ऑफ द मैच रहे डीविलियर्स ने मात्र 17 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्के उड़ाते हुए नाबाद 47 रन बनाए. डिविलियर्स ने कहा कि हमें इस जीत की जरूरत थी. मुझे डेल स्टेन का सामना करते हुए डर लग रहा था. मैं इस बात से अच्छी तरह वाकिफ हूं कि वह कितनी अच्छी गेंदबाजी करते हैं. हार से निराश चार्जर्स के कप्तान कुमार संगकारा ने कहा कि हमें अच्छी गेंदबाजी करके डिविलियर्स को रोकने की जरूरत थी, लेकिन हम नाकाम रहे और मैच गंवा बैठे. डिविलियर्स ने बेहतरीन बल्लेबाजी की. स्टेन ने टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन आज उनका दिन नहीं था..

स्मिथ ने छीना मैच

मुंबई, 7 मई, ए. चेन्नई सुपरकिंग्स के कोच स्टीवन फ्लेमिंग ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच के आखिरी ओवर में ड्वेन स्मिथ की नाबाद 24 रन की पारी की तारीफ करते हुए कहा कि स्मिथ ने बेजोड प्रदर्शन करके हमसे मैच छीन लिया. फ्लेमिंग ने कहा कि ट्वंटी-20 मैच ही इस तरह का है कि कोई भी खिलाड़ी इसकी दिशा बदल सकता है अंतिम ओवर में स्मिथ की पारी ने इसे साबित भी कर दिया. कोई भी पहले से यह नहीं बता सकता की मैच का परिणाम क्या होगा.

इंडियंस को 174 रन के लक्ष्य की पीछा करना था और सचिन तेंदुलकर (74) तथा रोहित शर्मा (60) की बेहतरीन पारियों की बदौलत एक विकेट खोकर उन्होंने 134 रन बनाये थे लेकिन सचिन और रोहित का विकेट गिरते ही पूरी टीम लडख़ड़ाहट गयी और अगले चार ओवर में उसने अपने छह विकेट गंवा दिये थे. 20वें ओवर में जब स्मिथ बल्लेबाजी करने उतरे तो टीम को 16 रन की जरूरत थी लेकिन ओवर की दूसरी गेंद पर लसित मलिंगा बोल्ड हो गये. ऐसे में इंडियंस का मैच जीतना लगभग नामुमकिन लग रहा था.

मजबूत इरादों वाले सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं गंभीर

नयी दिल्ली, 7 मई, ए. आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेल रहे आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली अपने कप्तान गौतम गंभीर को सर्वश्रेष्ठ कप्तान मानते हैं.

ली ने कहा कि गंभीर मजबूत इरादों वाले कप्तान हैं. वह जन्मजात नेता हैं और उनमें नेतृत्व क्षमता कूट कूट कर भरी है. मैंने जितने भी कप्तान के अंदर खेला है उनमें गंभीर बेजोड हैं. उन्होंने कहाकि गंभीर सिर्फ बेहतर कप्तान ही नहीं है. साथ ही वह अच्छा प्रदर्शन भी करते हैं. बेहतरीन प्रदर्शन के कारण ही पूरी टीम उनकी बात मानती है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को 2010 में अलविदा कहने वाले ली ने हालांकि ट्वंटी-20 और वनडे मैच से संन्यास नहीं लिया है. उन्होंने आस्ट्रेलियाई टीम के मौजूदा कप्तान माइकल क्लार्क की तारीफ करते हुए कहा कि क्लार्क के नेतृत्व में आस्ट्रेलियाई टीम सही दिशा में आगे बढ़ रही है. ली ने कहा कि क्लार्क खुद भी अच्छा खेल रहे हैं और उनके साथ टीम भी लगतार आगे बझ रही है. हमारी टीम ने हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन दिखाया और इससे पता चलता है कि नंबर वन का पायदान हमसे ज्यादा दूर नहीं है.

Related Posts: