अनूपपुर, धार और राजगढ़ जिलों में बाद में होगा जेल भरो आंदोलन

झाबुआ में सर्वाधिक 38,000 गिरफ्तारियां

भोपाल, 9 जनवरी. राजधानी के खिरनी वाले मैदान पर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने अपने सम्बोधन में कहा कि अब भाजपा राज्य सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गई. सरकार न तो पर्याप्त बिजली पानी के अलावा सड़कों की दुर्दशा नहीं सुधार पाई. इसके अलावा कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई और भ्रष्टाचार काफी हद तक फैल गया है. इस सरकार के कई मंत्री लोकायुक्त के घेरे में है. इसके बावजूद भी प्रदेश के मुख्यमंत्री भ्रष्टाचारी मंत्री के प्रति कोई कार्यवाही नहीं कर रहे है. उन्होंने कहाकि अब समय आ गया है कि प्रदेश सरकार के कार्यों एवं केन्द्रीय सरकार की लाभकारी योजनाओं से आम जनता को अवगत कराएं.

आप सभी कार्यकर्ताओं ने जिस तरह से एकजुटता का परिचय देकर यहाँ आए. इसके लिये आपको धन्यवाद ज्ञापित दिल से करता हूं. इस अवसर पर पूर्व गृहमंत्री एवं प्रभारी सत्यदेव कटारे ने अपने संबोधन में कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए कि प्रदेश की भाजपा सरकार के राज्य में हर स्तर पर भ्रष्टाचार फैल गया है.  आम जनता को न्याय नही मिल पा रहा है. वहीं किसानों को समय पर खाद उपलब्ध नहीं हो पा रही है. इसके अलावा न बिजली और न पानी पर्याप्त मिल पा रहा है. सड़कों की ऐसी हालत हो गई है कि जहाँ सड़क कम गड्ढे नजर आते है. इस मौके पर विधानसभा आरिफ अकील ने कहा कि कार्यकर्ताओं के एकजुटता में ही शक्ति होती. अब प्रदेश सरकार के दमनकारी नीतियों की विरोध कर शासन एवं प्रशासन की नींद खोलने का समय आ गया है. सोमवार को जेल भरों आंदोलन में शक्ति होने करीब 10 हजार कार्यकर्ताओं खिरनी वाले मैदान पहुँचे. यहाँ सभी कार्यकर्ता हाथ में झंडे और बैनर लेकर भाजपा सरकार के विरोध में नारे लगाते हुए आगे बढ़े तो रास्ते में रेतघाट के पास कुछ कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़पें हुई.  उक्त कार्यकर्ताओं के समूह को कमला पार्क की सड़क पर बाधा बेरियर लगाकर पुलिस बल ने रोक दिया. साथ ही कार्यकर्ताओं को अस्थाई जेल के रूप में कमला पार्क परिसर में प्रवेश करा दिया. यहाँ पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा काफी देर तक प्रदेश भाजपा सरकार के विरोध में नारेबाजी करते रहे. यहाँ पर उपस्थित इंटक के उपाध्यक्ष जे.पी. गौड़ ने मीडिया से कहा कि कांग्रेस ने भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन किया.

किंतु प्रदेश सरकार ने अस्थाई जेल का स्थान तो नियत कर दिया. मगर कार्यक्र्ताओं को खाने और पीने के पानी तक इंतजाम नहीं कर पाई. इस आंदोलन के दौरान दीपचंद यादव, विधायक आरिफ अकील, पी.सी. शर्मा, पार्षद गिरीश शर्मा, पार्षद मनीष यादव, पूर्व महापौर मधु गार्गव, पूर्व ब्लाक भेल अध्यक्ष जे.के. पाठक, के.के. नेमा, इंटक यूनियन भेल के पदाधिकारी गौतम मौरे, दीपक गुप्ता, राजेश शुक्ला, सहित इत्यादि कार्यकर्तागण उपस्थित थे. उधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने आज कांग्रेस के राज्यव्यापी जेल भरो आंदोलन को अप्रत्याशित सफलता मिली है और कांग्रेसजनों ने रिकार्ड संख्या में जेलों को भरा है.वह भी तब जबकि सरकार ने शहरी सीमा से उन्हें 5 से 10 किमी पहले ही खदेडऩे की कोशिश की.  भूरिया ने यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश के 47 जिलों में दोपहर में जेल भरों आंदोलन किया गया और इसमें पांच लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी. जिसमें 50 महिला कार्यकर्ता शामिल है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के इस आंदोलन की सफलता के बाद भाजपा सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गई है. उन्होंने कहा कि इस आंदोलन के साथ ही कांग्रेस की प्रदेश में राज्य सरकार के खिलाफ मैदानी लडाई प्रारंभ हो गई जो कि प्रदेश बचाओ अभियान के रूप में जारी रहेगी. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में जिला प्रशासन ने कार्यकर्ताओं के आंदोलन में शामिल होने से रोकने के लिए दमनकारी निति अपनाकर रूकावटें पैदा की. इधर,शाम को कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल राम नरेश यादव को 12 सूत्रीय ज्ञापन देकर मिला और उनसे किसानों और आम जनता की समस्याओ के मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है.

राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

भोपाल, 9 जनवरी. इधर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आनंद तारण ने बताया कि जेल भरो आंदोलन में कांग्रेसजनों ने शांति के साथ एक ज्ञापन एवं करीब 25 हजार कांग्रेसजनों के गिरफ्तारी के फार्म प्रभारी कलेक्टर आहरिन सीढिय़ां एवं एडीएम बसंत कुर्रे को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा. इस अवसर पर कांतिलाल भूरिया, सत्यदेव कटारे, आरिफ अकील, पी.सी. शर्मा, अवनीश भार्गव, मानक अग्रवाल, कैलाश मिश्रा, विभा पटेल, सुनील सूद, दीपचंद यादव, आनंद तारण, अर्चना जायसवाल, तनिमा दत्ता इत्यादि उपस्थित थे.

Related Posts: