नई दिल्ली, 7 फरवरी. वर्ष 2012-2013 के लिए इस बार आम बजट 16 मार्च को पेश किया जाएगा. राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के 12 मार्च को संसद के दोनों सदनों को संबोधन के साथ बजट सत्र की शुरुआत होगी. रेल बजट 14 मार्च को पेश होगा और 15 मार्च को आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा.

संसदीय मामलों के मंत्री पवन कुमार बंसल ने कहा कि हम राष्ट्रपति से यह सिफारिश करने जा रहे हैं कि बजट सत्र 12 मार्च को बुलाया जाए और यह 30 मार्च तक चले. राष्ट्रपति का संबोधन 12 मार्च को होगा, रेल बजट 14 मार्च को और केंद्रीय बजट 16 मार्च को पेश होगा.  वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी की अध्यक्षता वाली संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की बैठक के बाद बंसल ने संवाददाताओं से बातचीत में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि बजट सत्र का दूसरा हिस्सा 24 अप्रैल से 22 मई तक होगा. बजट सत्र की शुरुआत आमतौर पर फरवरी के तीसरे सप्ताह से होती है. लेकिन इस साल उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बजट देर से पेश किया जाएगा.

किसानों को कर्ज हो सकता है और सस्ता

नई दिल्ली. किसानों के लिए अच्छी खबर है. उनके लिए कर्ज और सस्ता हो सकता है. कृषि मंत्रालय चाहता है कि समय पर कर्ज चुकाने वाले किसानों तीन फीसदी की ब्याज दर पर ही ऋण मुहैया कराया जाए. उसने आम बजट में यह व्यवस्था करने का प्रस्ताव रखा है. अभी तक किसानों को चार फीसदी की ब्याज दर पर कृषि ऋण मिलता है.

10 लाख टन चीनी के निर्यात की छूट
वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी की अध्यक्षता वाले मंत्रियों के अधिकार प्राप्त समूह (ईजीओएम) ने बेहतर उत्पादन के मद्देनजर और 10 लाख टन चीनी के निर्यात की मंजूरी देने का फैसला किया है.

प्याज़ की कीमत में बदलाव नहीं – समिति ने प्याज़ का न्यूनतम निर्यात मूल्य नहीं घटाया. बजाय इसके ईजीओएम ने हालात की समीक्षा के लिए एक अंतर-मंत्रालयीय समूह के गठन का फैसला किया. सामान्य किस्म के प्याज का न्यूनतम निर्यात मूल्य 150 डालर प्रति टन है.

Related Posts: