पणजी, 27 मार्च. गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पारिकर ने सोमवार को राज्य का लोक लुभावन बजट पेश करते हुए घरेलू महिलाओं को 1,000 रुपये महीना भत्ता देने और पेट्रोल के दाम 11 रुपये कम करने के उपायों की घोषणा की. मुख्यमंत्री पारिकर के पास वित्त विभाग भी है.

उन्होंने अगले वित्त वर्ष में राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में 15 प्रतिशत वृद्धि का लक्ष्य रखते हुए घरेलू रसोई गैस सिलेंडर के दाम पांच साल स्थिर रखने की भी घोषणा की. पारिकर ने कहा कि पेट्रोल पर वैट करीब-करीब खत्म कर दिया गया है.  इस पर केवल 0.1 पर्सेंट वैट लगेगा, ताकि बिक्री का रेकॉर्ड रखा जा सके. इससे राज्य में पेट्रोल के दाम 65 रुपये से घटकर करीब 55 रुपये रह जाएंगे. मुख्यमंत्री ने राज्य में घरेलू महिलाओं को 1,000 रुपये महीना भत्ता देने का भी प्रस्ताव किया है. राज्य के परिवार जिनकी सालाना आय तीन लाख रुपये से कम है उनमें घर में रहकर परिवार संभालने वाली महिलाओं को 1,000 रुपये महीने का भत्ता मिलेगा. परिवारों को एक और बड़ी राहत देते हुए उन्होंने कहा कि घरेलू गैस सिलेंडर को 16 मार्च 2012 के दाम पर ही स्थिर रखने की घोषणा की.

राज्य में अगले पांच साल तक एलपीजी सिलेंडर का दाम इसी स्तर पर रहेगा. 16 मार्च को केंद्रीय बजट पेश किया गया था. पारिकर ने कहा, केंद्रीय बजट से घरेलू सिलेंडर के दाम बढऩे की आशंका बढ़ी है. मेरी सरकार का मानना है कि गोवा के लोगों को इस महंगाई से दूर रखा जाए. गोवा की नवगठित भारतीय जनता पार्टी सरकार ने राज्य में दयानंद सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत भत्ता 1,000 से बढ़ाकर 2,000 रुपये करने की भी घोषणा की है. योजना के तहत वरिष्ठ नागरिकों, विधवाओं, पति द्वारा छोड़ी गई महिलाओं, अपंग और एचआईवी प्रभावित लोगों को लाभ दिया जाता है.

पेट्रोल 5 रु. महंगा होगा

नई दिल्ली. अप्रैल का महीना आम आदमी को फिर रुलाने वाला साबित हो सकता है, जबकि पेट्रोल के दामों में 2 से 5 रुपए लीटर की बढ़ोतरी हो सकती है. सूत्रों की मानें तो पेट्रोलियम कंपनियां इस माह के अंत में समीक्षा बैठक करेंगी. इस दौरान घाटा पूरा करने के बहाने 31 मार्च को दामों में वृद्धि की घोषणा कर सकती हैं.

Related Posts: