शिरडी से उत्तर प्रदेश के बिजनौर जा रहे सांई की पालकी लेकर भक्त

ब्यावरा 10 जून,नससे. भगवान सांई के ‘सबका मालिक एक’, भाईचारे, सद्भाव के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने शिरडी (महाराष्टï्र) से बिजनौर (उत्तर प्रदेश) तक सांई भक्तों द्वारा पैदल पालकी यात्रा निकाली जा रही है, जो रविवार  ब्यावरा पहुंची. जगह-जगह सांई भक्तों ने पूजा-अर्चना कर स्वागत किया.

जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश स्थित  बिजनौर के सांई भक्तों द्वारा शिरडी से पैदल चलते हुए पालकी ले जायी जा रही है, जिसमें सांई की तस्वीर विराजमान है. भक्तों द्वारा निकाली जा रही ये दूसरी यात्रा है. 1950 किमी पैदल चलकर पहुंचेंगे- यात्रा का नेतृत्व कर रहे पं राजेन्द्र सांई ने बताया कि 2 जून 2012 को उन्होंने शिरडी से पालकी यात्रा प्रारंभ की. शिरडी से लगभग 1950 किमी का सफर तय कर पालकी यात्रा बिजनौर पहुंचेगी. यात्रा में करीब 20 भक्तजन शामिल है. एक के बाद एक दो-दो भक्त बारी-बारी से पालकी को कंधा देते है. इस तरह एक दिन में लगभग 90 किमी की दूरी तय की जा रही है.  24 में से 18 घंटे यात्रा चल रही है.

मुस्लिम भी दे रहे पालकी को कंधा- यात्रा में दो-तीन मुस्लिम लोग भी साथ चल रहे है. जो अन्य भक्तों के साथ-साथ पूरे श्रद्धा, भक्तिभाव के साथ पालकी को कंधा दे रहे है. यात्रा में जहां मोन्टी, सौरव, कैलाशचन्द्र सेनी,  नितेश भारद्वाज, भीष्म, डा. लोकेन्द्र सिंह सेनी के साथ ही मुस्लिम समाज के निसार, सलीम साथ चल रहे है.

Related Posts: