• डेली डिपाजिट स्कीम के नाम पर हड़पे रुपए

एजेंट ने ही की थी कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत

भोपाल, 5 अक्टूबर. राजधानी में एक और कंपनी द्वारा डेली डिपाजिट स्कीम के नाम पर सोने की खरीद फरोख्त के जरिए धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है. एमपी नगर इलाकें में संचालित इस कंपनी के एक एजेंट ने ही कंपनी के ऊपर लोगों का जमा पैसा खाने और धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के अनुसार एमपी नगर जोन टू के सांची काम्प्लेक्स में संचालित हो रही जेएन डेली एवं जेएन गोल्ड कंपनी लोगों से डेली डिपाजिट कर उनके नाम पर सोने की खरीद करने का काम कर रही है. कंपनी का मुख्यालय दिल्ली बताया जा रहा है. भोपाल में कंपनी का ब्रांच आफिस है. इस कार्यालय में राजधानी के सैकड़ों लोगों ने डेली डिपाजिट के खाते खुलवा रखे हैं. मंगलवार रात को थाना एमपी नगर में कंपनी के एजेंट प्रकाश चंद्र अहिरवार ने शिकायत दर्ज कराई कि उसमें कंपनी में कुछ लोगों के खाते खुलवाए थे और रोजाना उन से पैसे लेकर कंपनी में जमा कर रहा था. अब उन लोगों को भुगतान करने का समय पूरा हो गया तो कंपनी भुगतान नहीं कर रही है. इस तरह अन्य लोगों के साथ भी धोखाधड़ी की जा सकती है.

इस शिकायत पर पुलिस तुरंत हरकत में आ गई है. गौरतलब है कि पूर्व में भी कई फायनेसं कंपनी लोगों से पैसा जमा कराकर उनकी जमा पूंजी हड़प कर चुकी है. इस कंपनियों के एजेंट को भी कंपनी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती और लोग कम समय मे अधिक मुनाफा कमाने के चक्कर में ऐसी कंपनी के धोखाधड़ी का शिकार हो  रहे हैं. मामले को गंभीरता से लेते हुए एमपी नगर पुलिस ने दिल्ली मुख्यालय सहित अन्य जगह से कंपनी के बारे में सभी सूचना एकत्रित करने और शिकायत की जांच करने की कार्रवाई शुरू कर दी है. हालांकि अभी जांच प्रारंभिक स्थिति में है इसलिए यह पता नहीं चल सका है कि कंपनी में कितने लोगों ने कितना पैसा जमा कराया है, लेकिन अनुमान है कि इसकी संख्या लाखों में हो सकती है. यह जानकारी विस्तृत पड़ताल के बाद ही सामने आ सकेगी और कारण का पता भी चल सकेगा कि आखिर खाताधारकों का भुगतान नहीं करने के पीछे कंपनी की क्या मंशा है.

 

  • महिला ने खाया सल्फास

बजरिया थाना क्षेत्र में एक विवाहिता ने सल्फास खा लिया. उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई. बजरिया पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है. जानकारी के अनुसार अर्चना का विवाह सेमरा निवासी राजेश रघुवंशी से हुआ था. बुधवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे घर में अकेली थी उसी समय उसने सल्फास खाकर आत्महत्या कर दी. घटना की जानकारी मिलने पर अर्चना के परिजनों ने उसे तत्काल एलबीएस अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने इस मामले में जाच शुरू कर दी है, लेकिन अभी आत्महत्या के कारण का खुलासा नहीं हो सका है.

Related Posts: