लखनऊ, 12 अप्रैल. समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं से कहा कि उनकी मेहनत से उत्तर प्रदेश में पार्टी की बहुमत की सरकार तो बन गई है अब उसको काम करने के लिए कुछ समय दें. सरकार को चलाने में सहयोग करें.

यादव पार्टी मुख्यालय में एकत्र कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आपकी बात सुनेंगे. उनका दफ्तर भी जनता और कार्यकर्ताओं के कागज लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंचाने की व्यवस्था करेगा. उन्होंने कहा कि जनता से जो भी वायदे किए गए हैं उन्हें पूरा किया जाएगा. कार्यकर्ताओं के मान सम्मान में कमी नहीं रहेगी. अधिकारी अब जनता का अपमान नहीं कर सकेंगे.जनता का विश्वास सरकार पर यादव ने कहा 2014 में लोकसभा की सभी सीटें जीत लेने का लक्ष्य बनाए . जनता का विश्वास सरकार पर है. इसके कामकाज और कार्यकर्ताओं, नेताओं के आचरण का बहुत असर पड़ेगा. विरोधी ताक लगाए बैठे हैं कि कैसे इस बहुमत की सपा सरकार को बदनाम करें. उन्होंने कहा कि विरोधी तत्व झूठे प्रचार कर रहे हैं . इस सबसे सावधान रहना है.

विधान सभा चुनावों में सभी दल हमारे खिलाफ खड़े थे पर जनता के प्यार और समर्थन से सपा की सरकार बनी है. इस सरकार को छह माह तक काम करने का मौका देना चाहिए. यादव ने कहा कि बसपा के कुशासन की वजह से राज्य में बिजली पानी की समस्या गंभीर हो गई है. सरकार इसमें सुधार के लिए तत्पर है. शाहजहांपुर के रोजा में 1200 मेगावाट विद्युत उत्पादन के लिए सपा राज में संयंत्र लगा था. बसपा सरकार में एक मेगावाट विद्युत का उत्पादन नहीं हुआ. जनता महंगाई और भ्रष्टाचार से कराह उठी . सपा सरकार ने जनहित में कई कदम उठाए है और प्रदेश के विकास के लिए वह तत्पर रहेगी . हमारा लक्ष्य उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाना होगा. यादव ने कहा कि किसाननों और अल्पसंख्यकों के प्रति सरकार चुनाव घोषणा पत्र में किए गए वायदे पूरे करेगी . किसानों का 50 हजार रुपए तक का कर्ज माफ किया जाएगा.

जमीन नीलाम नहीं होने देंगे

किसानों को सहकारी संस्थाओं से 4 प्रतिशत ब्याज दर पर कर्ज सुनिश्चित किया जाएगा. किसान की जमीन नीलाम नहीं होने दी जाएगी. उन्होंने कहा कि मुसलमानों की आर्थिक. सामाजिक एवं शैक्षणिक स्थिति में सुधार के लिए सच्चर और रंगनाथ आयोग की राज्य में हो सकने वाली सिफारिश कार्यान्वित की जाएगी. उनको आरक्षण का लाभ देने के साथ कब्रिस्तानों की चहार दीवारी बनाई जाएगी. उन्होंने कहा कि दरगाहों के संरक्षण के लिए विशेष पैकेज आवंटित किया जाएगा . मदरसों को मदद दी जाएगी . उर्दू को रोजी रोटी से जोड़कर उसके स्कूल खोले जाएंगे.

माता प्रसाद पाण्डेय होंगे विधानसभा स्पीकर

उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष के लिए सपा के माता प्रसाद पाण्डेय का निर्विरोध निर्वाचन लगभग तय है. पाण्डेय ने इस पद के लिए आज 7 सेटों में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. उनके प्रस्तावकों में सत्तारढ सपा, प्रमुख विपक्षी दल बसपा, भाजपा, कांग्रेस, पीस पार्टी, रालोद और निर्दलीय विधायक शामिल हैं. सभी दलों के समर्थन की वजह से पाण्डेय का निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है. पाण्डेय के निर्वाचित होने की औपचारिक घोषणा शुक्रवार को सदन में की जाएगी. वह सपा की पिछली सरकार में 2003 से 2007 तक विधानसभा अध्यक्ष रह चुके हैं.

अखिलेश ने विधानपरिषद के लिए भरा नामांकन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधान परिषद चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया. अखिलेश के साथ सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने भी अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. दोनों ने दो-दो सेटों में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. अखिलेश यादव कन्नौज से लोकसभा सांसद हैं. उन्हें मुख्यमंत्री बने रहने के लिए विधानमंडल के दोनों सदनों में से किसी एक सदन का सदस्य होना जरूरी है. सूत्रों मुताबिक वह कन्नौज लोकसभा सीट से जल्द ही इस्तीफा दे देंगे. सपा के पांच उम्मीदवारों ने बुधवार को अपने नामांकन पत्र दाखिल किए थे.

Related Posts: