फर्रुखाबाद, 30 अप्रैल. केंद्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि मजबूत लोकपाल बिल लाने पर केंद्रीय सरकार पूरी तरह गंभीर है. किन्तु विरोधी दल उसका सहयोग नहीं कर रहे हैं. खुर्शीद ने बाबा रामदेव के कालेधन से संबद्ध मुद्दे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि हर अच्छे प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए सरकार तैयार है.

अपने निर्वाचन क्षेत्र के एक दिन के दौरे पर आए केंद्रीय कानून मंत्री ने कहा कि सरकार भारतीय दंड संहिता को और सशक्त बनाने की दृष्टि से आगामी मानसून सत्र में लोकपाल बिल लाना चाहती है. इसके अतिरिक्त, न्यायपालिका में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने, महिलाओं पर अत्याचार रोकने तथा सरकारी खरीद में पारदर्शिता लाने आदि के आठ कानूनों को लाने के लिए संकल्पबद्ध है. खुर्शीद ने कहा कि प्रदेश की जनता की स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं को देखते हुए केंद्र सरकार उत्तर प्रदेश में एम्स जैसी बहुउद्देशीय सेवाएं उपलब्ध कराने के प्रति भी सचेष्ट है.

केंद्रीय कानून मंत्री ने चुनावों में पेड न्यूज प्रकाशित करने संबंधी समस्याओं पर अंकुश लगाने के प्रश्न पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्र ने मंत्रियों के समूह को गठित कर इस समस्या से निपटने का प्रयास किया है. चुनाव आयोग भी इस दिशा में प्रयत्नशील है. मंत्री पद से त्यागपत्र देकर कांग्रेस संगठन में काम करने की खबरों पर गोलमोल जवाब देते हुए सलमान ने कहा कि कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी की इच्छा पर निर्भर करता है, जिससे इन्कार नहीं किया जा सकता. काले धन के मुद्दे पर सरकार पर अकर्मण्यता का आरोप लगाए जाने का प्रतिवाद करते हुए कानून मंत्री ने कहा कि इस मामले में सरकार पूरी तरह गंभीर और सचेष्ट है. हाईकोर्ट में विचाराधीन कतिपय मामलों पर आने वाले निर्णयों के परिपेक्ष्य में सरकार कोई तात्कालिक कदम उठाने से बच रही है. प्रेस परिषद के अध्यक्ष न्यायमूर्ति काटजू से हुई मुलाकात में मीडिया से संबंधित कतिपय मामलों में गहन चर्चा होने की बात स्वीकारते हुए कानून मंत्री ने कहा कि रक्षा संबंधी मामलों पर प्रकाशन को लेकर मीडिया प्रबंधकों से स्वयं अपनी आचार संहिता बनाने पर विचार-विमर्श हुआ है. ससे देश की रक्षा संबंधी विषयों को आघात लगने से बचाया जा सकेगा.

Related Posts: