• पंच परमेश्वर योजना

एकमुश्त राशि देने की व्यवस्था

भोपाल, 15 जनवरी. पंच परमेश्वर योजना में राज्य शासन ने प्रदेश की सभी 23 हजार 10 ग्राम-पंचायतों को पहली किस्त के रूप में 704 करोड़ की राशि जारी कर दी है. यह राशि पंचायतों को संबंधित बैंकों के माध्यम से उपलब्ध करवाई गई है.

पंच परमेश्वर योजना में राज्य वित्त आयोग और 13वें वित्त आयोग के प्रावधानों का पालन करते हुए गाँवों में अधोसंरचना विकास के लिये एकमुश्त राशि देने की व्यवस्था है. इस योजना के साथ मनरेगा के अभिसरण की व्यवस्था से ग्राम-पंचायतें 20 लाख से 60 लाख तक की राशि का उपयोग गाँवों के विकास में कर सकेंगी. ग्राम-पंचायतें त्रि-स्तरीय पंचायत राज की धुरी हैं. ग्राम-पंचायतों को गाँवों में पहले विकास कार्यों के लिये टुकड़ों-टुकड़ों में राशि मिलती थी. पंच परमेश्वर योजना से इस खामी को अब दूर किया गया है. बुनियादी विकास कार्यों के लिये एकजाई राशि मिलने से अब गाँवों की तरक्की में तेजी आयेगी. योजना में ग्राम-पंचायतों को दी जाने वाली राशि में अधिकांश हिस्सा राज्य सरकार द्वारा विभिन्न मदों से उपलब्ध करवाया जा रहा है. इनमें राज्य वित्त आयोग, खनिज और स्टॉम्प ड्यूटी से मिलने वाली राशि शामिल है. इसके अलावा 13वें वित्त आयोग से मिलने वाली राशि को भी इसमें शामिल किया गया है.

पंच परमेश्वर योजना के तहत ग्राम पंचायतों को वित्तीय वर्ष में जनसंख्या के मान से एकजाई राशि मिलेगी. योजना में दो हजार तक की जनसंख्या वाली ग्राम पंचायत को 5 लाख तक, दो हजार एक से पाँच हजार तक की जनसंख्या वाली ग्राम पंचायत को 8 लाख तक, पाँच हजार एक से दस हजार तक की जनसंख्या वाली ग्राम पंचायत को 10 लाख तक और दस हजार एक से अधिक की जनसंख्या वाली ग्राम पंचायत को 15 लाख तक की एकजाई राशि प्रदान की जाएगी. त्रि-स्तरीय पंचायत राज व्यवस्था के सुचारु क्रियान्वयन के मक़सद से जनपद पंचायतों और जिला पंचायतों को पृथक से विभिन्न योजनाओं और मदों में धनराशि सुलभ होती है.

Related Posts: