• गुवाहाटी में दरिंदगी

गुवाहाटी ,13 जुलाई. असम की राजधानी गुवाहाटी में एक शर्मनाक करतूत ने पूरे इंसानियत को शर्मशार कर दिया है. एक लड़की के साथ शहर के व्यस्ततम इलाके में लोगों के एक समूह ने सरेआम छेडख़ानी और मारपीट की. इस दौरान छेडख़ानी करने वाले गुंडों के समूह ने उसे जमकर नोंचा और उसके कपड़े फाड़ दिए.

इस घटना से पूरे देश में आक्रोश फैल गया. दस जुलाई को हुई इस घटना के इंटरनेट पर वीडियो सामने आने के बाद मामला पूरी तरह प्रकाश में आया. वहीं, महिला आयोग की टीम कल असम दौरे पर जाएगी और घटना की पड़ताल करेगी. जानकारी के अनुसार, पीडि़त लड़की अपने एक दोस्त के साथ दस जुलाई को गुवाहाटी-शिलांग रोड पर स्थित एक बार में गई थी. इस दौरान अपने दोस्तों से उसका किसी बात पर मनमुटाव हो गया. जिसके बाद लोगों के एक समूह ने इस वाकये का फायदा उठाकर बार के बाहर उस लड़की के साथ सरेआम छेडख़ानी और मारपीट की.

इस वारदात को 20 से ज्यादा लोगों ने अंजाम दिया. इस दौरान पीडि़त लड़की चीखती और चिल्लाती रही लेकिन कोई मदद को सामने नहीं आया. भीड़ तमाशबीन बनी रही. गुंडे सरीखे 20 लोगों ने न सिर्फ छेडख़ानी की बल्कि उसके कपड़े भी फाड़ दिए और दरिंदों की तरह उसे नोंचा. बताया जा रहा है कि पीडि़त लड़की 11वीं कक्षा की छात्रा थी और उक्त बार में एक पार्टी में आई थी. मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने कार्रवाई शुरू की और चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. एक लड़की से सरेआम छेड़छाड़ कर उसके कपड़े फाडऩे के आरोप में एक और युवक को गिरफ्तार किया गया है और इसमें शामिल 12 अन्य लोगों की पहचान कर ली गई है. अभी तक इस मामले में कुल चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्री ने इस घटना की कड़ी भतर््सना की है और इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने ऐसी घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी और आश्वासन दिया कि पूरी कार्रवाई होगी.
गौरतलब है कि सोमवार रात को गुवाहाटी-शिलांग मार्ग पर एक बार के सामने बदमाशों ने इस लड़की के साथ यह बेहूदा हरकत की. इससे जुड़ा वीडियो यूट्यूब पर डाले जाने के बाद देश भर में इस मामले पर काफी तीखी प्रतिक्रिया हुई.

असम के पुलिस महानिदेशक जयंत नारायण चौधरी ने बताया कि इस मामले में एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है और 12 अन्य लोगों की पहचान की गई है. उन्होंने कहा कि मीडिया के शीघ्र कवरेज के कारण ही हमें इस मामले का वीडियो मिल पाया और हमने उनमें से 12 लोगों की पहचान कर ली. हम दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रव

ाई करेंगे. जयंत ने मामले के बारे में विस्तार से बताया कि संभावित तौर पर एक-दूसरे को जानने वाली चार लड़कियां और दो लड़के सोमवार की रात बार में गए और वहां हुए विवाद के बाद सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बाहर निकाल दिया. उन्होंने बताया कि मौके का फायदा उठा कर स्थानीय लोगों ने उनमें से एक लड़की को खींच लिया और उसके साथ छेडख़ानी एवं उसके कपड़े फाडऩे की कोशिश की. उन्होंने बताया कि मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस तुरंत वहां पहुंची और लड़की को बचा लिया.

गुवाहाटी में लड़कियों की सुरक्षा के बारे में पूछे जाने पर पुलिस महानिदेशक जयंत ने कहा कि इस घटना से यह साबित नहीं होता कि शहर में दरिंदे घात लगाए बैठे हुए हैं. उन्होंने कहा कि यह मामला एक अपवाद है, जहां स्थानीय लोग मौके का फायदा उठा कर अपराध में शामिल हुए. इस मामले में पहले गिरफ्तार हुए लोगों के नाम हैं अमरज्योति कालिता (असम के एक धारावाहिक में काम कर चुका है), धनंजय बासफोर और बुलबुल दास. मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और यह भी कहा कि दोबारा ऐसा नहीं होने दिया जाएगा. उन्होंने पुलिस और जिला प्रशासन से सभी बार, क्लबों, डिस्को और होटलों पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया है. पीडि़त लड़की की मां की शिकायत के बाद पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्?न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

घटना से देश स्तब्ध  महिला आयोग भेजेगा जांच दल

नयी दिल्ली 13 जुलाई . असम के गुवाहाटी में सरेआम कुछ मनचलों द्वारा एक लडकी के साथ छेडछाड किये जाने एवं उसके कपडे फाडे जाने की शर्मनाक घटना से देश भर से जबरदस्त प्रतिक्रिया हुयी है. राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस घटना पर स्वत: संज्ञान लेते हुए अपने एक दल को इस घटना की जांच के लिये गुवाहाटी भेजने का फैसला किया है. आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने कहा .. हम कार्रवाई करेंगे, इस घटना का हमने संज्ञान लिया है, मैं राज्य सरकार से अनुरोध करती हूं कि वह ऐसे घटनाओं पर विचार करे.

केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री कृष्णा तीरथ ने कहा है कि ऐसी घटनाओं को रोकने की जिम्मेदारी पुलिस की है1 स्थानीय पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है उसे यह देखना चाहिये कि बाकी अभियुक्तों को कैसे गिरफ्तार किया जाये1 अगर ऐसी घटना होती है तो अन्य लोगों को मदद के लिये आगे आना चाहिये1 अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति .. एडवा.. ने इस मामले के बारे में तथ्य जुटाने के लिये कल एक प्रतिनिधिमंडल को गुवाहाटी भेजने का फैसला किया है1 यह प्रतिनिधिमंडल पीडित लडकी एवं उसके परिवारजनों के अलावा संबंधित अधिकारियों से मिलेगा1

zp8497586rq

Related Posts: