प्रतिबंध के बाद पांच गुना दाम में

भोपाल, 1 अप्रैल, नभासं. राजधानी में गुटखा पाउच पर खाद्य विभाग द्वारा उनकी बिक्री पर 1 अप्रैल से प्रतिबंध लगा दिया था. किन्तु उक्त पाबंदी के बावजूद शहर भर में पान की दुकानों, विशेषकर महाराणा प्रताप नगर प्रेस कॉम्पलेक्स और रेसीडेंसी होटल के सामने दुकानों पर तंबाकू गुटखे पाउछा की बिक्री पांच गुना दाम पर धड़ल्ले से जारी है.

इस तरह से खुलेआम प्रतिबंधित होने के बाद भी तंबाकू गुटखा पाउचों की बिक्री जारी रहने से स्पष्टï होता है कि दुकानदारों या गुटखा के थोक विक्रेता को प्रशासन का खौफ नहीं है. चौंकाने वाली बात यह है कि जहां एक ओर राजधानी में पांच गुना दाम पर जगह-जगह बेखौफ फुटकर दुकान पर तंबाकू गुटखा की बिक्री हो रही है. वहीं दूसरी तरफ रविवार सुबह खाद्य विभाग की टीम गुटखा बिक्री करने वालों के रोकने हेतु निकली. किन्तु एक भी दुकानदार के खिलाफ कार्यवाही नहीं कर सकी. यानि की धूम-फिर कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली है. शहर में गुटखा पाउच के तीन से पांच गुना कीमत पर फुटकर विक्रेता द्वारा बेचने पर कई जगह ग्राहक  और दुकानदार के बीच तीखी नोंकझोंक हुई.

यहां तक कि एक फुटकर दुकानदार से ग्राहक ने काका गुटखा पाउच मांगा तो उसने उसकी कीमत पांच गुना मांगी. ग्राहक ने कहा कि कीमत कैसे बढ़ गई है तो फुटकर दुकानदार ने कहा कि लेना है तो ले वरना चलते बनो. यह घटना एमपी नगर में स्थित एक फुटकर दुकानदार के यहां हुई. जब ग्राहक ने इतने सारे काका पाउच रखे हो तुम्हें प्रशासन का डर नहीं लगता है तो दुकानदार दो टुक शब्दों में कहा कंपनी वालों ने भरोसा दिलाया है कि जितने बिक्री कर सको तो ठीक वरना बाकी शेष कंपनी पवास ले लेगी. अगर पकड़े जाते हैं तो कंपनी ही हमें बचायेगी.

– प्रदेश सरकार के खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों को राजश्री, गुरु, काका और रेंज गुटखा कम्पनियों के लाइसेंस नहीं देने का आदेश दिया है. साथ ही उक्त गुटखा निर्माता कम्पनियों पर पैनी नजर रखने के लिये भी आदेशित किया है. साथ ही बिना लाइसेंस संचालित कारखानों के अलावा गुटखा के थोक विक्रेता पर भी सख्त कार्यवाही करने को कहा गया है.

Related Posts: