भोपाल, 12 जून, नभासं. भोपाल के गाँधी मेडीकल कॉलेज से संबंधित हमीदिया अस्पताल परिसर में रैन बसेरा भवन का निर्माण पूरा हो चुका है यह आगामी तीन माह में शुरू हो जाएगा. रैन बसैरा निर्माण की घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निरीक्षण के दौरान की थी.

इसके अलावा पुरानी 5 लिफ्टों को बदला जाएगा जिस पर 3 करोड़ रुपये खर्च होगा. हमीदिया और सुल्तानिया अस्पताल के लिए एक-एक एम्बुलेन्स भी खरीदी जाएगी. यह जानकारी चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री  महेन्द्र हार्डिया की अध्यक्षता में आज गाँधी मेडीकल कॉलेज की स्वशासी समिति की सामान्य सभा की 11 वीं बैठक में दी गई. बैठक में सांसद श्री कैलाश जोशी, भोपाल संभागायुक्त प्रवीण गर्ग, संचालक चिकित्सा शिक्षा श्री एस सी तिवारी, डीन डॉ. निर्भय श्रीवास्तव, अधीक्षक डॉ. पाल तथा अन्य सदस्यों ने भाग लिया.

बैठक में गाँधी मेडीकल कॉलेज का वर्ष 2012-13 के लिए 23 करोड़ का बजट पारित किया गया. बैठक में बताया कि रैन बसेरा के साथ एक सुलभ शौचालय भी तैयार किया जा रहा है. दो सुलभ शौचालय पहले ही शुरू किये जा चुके हैं. कॉलेज से सम्बद्ध हमीदिया अस्पताल में न्यूरो फिजोलाजी लैब शुरू हो गई है जिससे ईईजी और ईएमजी आदि जाँच होने लगी हैं. बैठक में बताया गया कि सुरक्षा एवं मरीज की सुविधा के लिए हमीदिया और सुल्तानिया अस्पताल में भूतपूर्व सैनिकों को तैनात किया गया है. साथ ही मिलने का समय निर्धारित किया गया है. अब मरीजों से शाम 4 से 6 बजे तक ही मिला जा सकता है. एक अटेण्डेन्ट को हर समय रहने के लिए पास दिया जाता है. मुख्यमंत्री के निर्देश अनुसार 3 डायलेसिस मशीनें हमीदिया अस्पताल में स्थापित कर दी गई हैं. डीन डॉ0 निर्भय श्रीवास्तव ने बताया कि वर्ष 2012 में अब तक हमीदिया अस्पताल में 9418 बड़े तथा 6971 छोटे आपरेशन किये जा चुके हैं. साथ ही 324 मरीजों की ओपन हार्ट और अन्य सर्जरी की गई हैं.

मुख्यमंत्री बाल ह्दय उपचार योजना में अब तक 31 मरीजों का उपचार किया गया है. बेहतर सुविधाओं के चलते अब यहाँ कठिन से कठिन शल्य क्रिया भी की जाने लगी हैं. चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री श्री महेन्द्र हार्डिया ने ओपीडी के समय डॉक्टरों की पूरे समय की उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री का माना आभार

भोपाल, 12 जून. मप्र राज्य कर्मचारी संघ के राजेन्द्र शर्मा ने बतलाया कि संघ के उद्यानिकी प्रकोष्ठ द्वारा किये गये अथक प्रयासों की वजह से ही वर्ष 2008 से लम्बित उद्यानिकी विभाग के नवीन सेट-अप को केबिनेट की मंजूरी मिल सकी है.

जिससे विभाग में 3070 नवीन पदों का सृजन हुआ है. शर्मा ने बताया कि नवीन सेट-अप की मंजूरी से अधिकारियों तथा कर्मचारियों को पदोन्नति के अवसर प्राप्त होंगे. इस अवसर पर संचनालय उद्यानिकी विंध्याचल भवन में अधिकारी, कर्मचारियों द्वारा खुशी का इजहार करते हुए मिठाईयां बांटी गई तथा मुख्यमंत्री सहित शासन, प्रशासन को आभार माना.

Related Posts: