प्रत्येक अभ्यास सत्र के दौरान कुछ खिलाडिय़ों का बिना पूर्व सूचना के होता है परीक्षण

कोलंबो, 25 सितंबर. इंग्लैंड के खिलाफ 12 रन के एवज में चार विकेट लेकर एक साल से भी अधिक समय बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में धमाकेदार वापसी करने वाले हरभजन सिंह, सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का आज यहां डोप परीक्षण किया गया.

भारतीय टीम के मैनेजर आर एन बाबा के अनुसार यह रुटीन प्रक्रिया है और किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट में प्रत्येक अभ्यास सत्र के दौरान कुछ खिलाडिय़ों का बिना पूर्व सूचना के डोप परीक्षण किया जाता है. आईसीसी जुलाई 2006 में विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) से जुड़ी थी. टूर्नामेंट शुरू होने से एक दिन पहले भी कुछ खिलाडिय़ों का डोप परीक्षण किया गया था जिनमें पाकिस्तान के चार खिलाड़ी अब्दुल रज्जक, मोहम्मद समी, असद शाफिक और इमरान नजीर शामिल थे.

वापसी की जुगत में लगे सहवाग और जहीर

कोलंबो, 25 सितंबर. श्रीलंका में चल रहे विश्वकप ट्ïवंटी-20 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ सुपर आठ में मुकाबले से पहले टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और गेंदबाज जहीर खान के खेलने को लेकर स्थिति संदेहपूर्ण बनी हुई है.

आस्ट्रेलिया के खिलाफ सुपर आठ मुकाबले से पहले नेट अभ्यास के दौरान सहवाग मैदान पर तीन घंटे के अभ्यास सत्र के दौरान अभ्यास करते हुए दिखाई नहीं दिए. उंगली की चोट से जूझ रहे सहवाग आस्ट्रेलिया के खिलाफ् मैच से पूर्व अपनी चोट को और बढ़ाना नहीं चाहते हैं जिसके कारण वह अभ्यास में शामिल नहीं हुए. सहवाग की चोट की गंभीरता के बारे में फ्लिहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है लेकि न अभ्यास के दौरान इरफान पठान को मैदान पर बल्लेबाजी का अभ्यास करते देखे जाने से आस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में सहवाग की उपलब्धता को लेकर संशय बना हुआ है.

इसके अलावा गेंदबाजी क्रम में तेज गेंदबाज जहीर की स्थिति भी चिंता का विषय है. इंग्लैंड के खिलाफ भारत के पांच गेंदबाजों के फार्मूले की बदौलत टीम ने 90 रनों से शानदार जीत दर्ज की थी लेकिन हो सकता है कि धोनी आगामी मुकाबलों में चार गेंदबाजों के फार्मूले को वापिस दोहरा सकते हैं.

इंग्लैंड के खिलाफ आफ स्पिनर हरभजन सिंह का प्रदर्शन काफ्ी अच्छा था ऐसे में आस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम में उनकी मौजूदगी की संभावना काफ्ी प्रबल है. साथ ही रविचंद्रन अश्विन का अशोक डिंडा की जगह अंतिम एकादश में शामिल होना तय है. ऐसे में आउट आफ फार्म चल रहे जहीर खान की मौजूदगी सवालों के घेरे में है.

यहां सवाल इस बात को लेकर है कि अगर धोनी चार गेंदबाजों को खेलाते हैं तो जहीर टीम से बाहर हो सकते है और यदि चार गेंदबाजों में जहीर जगह बनाने में कामयाब हो जाते हैं तो लक्ष्मीपति बालाजी अंतिम एकादश से बाहर हो सकते हैं.हालांकि टीम मैनेजर आरएन बाबा ने कहा कि परिस्थितियों के हिसाब से खिलाडिय़ों का चयन किया जाएगा.

Related Posts: